परिचय

एम. वेंकैया नायडू का पूरा नाम ‘मुप्पवरपु वेंकैया नायडू’ है। वर्तमान में वे भारत के उपराष्ट्रपति हैं। वे 2002 से 2004 तक ‘भारतीय जनता पार्टी’ (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा केंद्र में विभिन्न विभागों के मंत्री पदों पर भी रह चुके है। भारत के सत्ताधारी ‘राष्ट्रीय लोकतांत्रिक संघ’ (NDA) ने 17 जुलाई 2017 को उन्हें भारत के उपराष्ट्रपति पद का प्रत्याशी घोषित किया। एम. वेंकैया नायडू 5 अगस्त 2017 को हुए चुनाव में ‘गोपालकृष्ण गाँधी’ को हराकर भारत के 13वें उपराष्ट्रपति चुने गए और 11 अगस्त 2017 को भारत के उपराष्ट्रपति बने।

Venkaiah Naidu Biography in Hindi

जन्म एवं शिक्षा

एम. वेंकैया नायडू का जन्म आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले के चावटपलेम में 1 जुलाई 1949 को एक ‘कम्मू परिवार’ में हुआ था। उनके पिता का नाम ‘रंगिया नायडू’ तथा उनकी माता का नाम ‘रामानाम्मा’ था। एम. वेंकैया नायडू ने वी. आर. हाई स्कूल, नेल्लोर से अपनी स्कूली पढ़ाई पूर्ण की और वी. आर. कॉलेज से राजनीति तथा राजनयिक अध्ययन में स्नातक किया। उन्होंने आन्ध्र विश्वविद्यालय, विशाखापत्तनम से कानून में स्नातक की डिग्री हासिल की। वे सन 1974 में आंध्र विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष के तौर पर चुने गए। कुछ दिनों तक वे आंध्र प्रदेश के छात्र संगठन समिति के संयोजक भी रह चुके हैं।

राजनैतिक करियर

एम. वेंकैया नायडू को एक ‘आंदोलनकारी’ के तौर पर भी पहचाना जाता है। वे सन 1972 में ‘जय आंध्र आंदोलन’ के समय पहली बार सुर्खियों में आए। उन्होंने नेल्लोर के आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लेते हुये विजयवाड़ा से आंदोलन का नेतृत्व किया। छात्र जीवन में उन्होंने लोकनायक ‘जयप्रकाश नारायण’ की विचारधारा से प्रभावित होकर आपातकालीन संघर्ष में भाग लिया। वे आपातकाल के विरोध में सड़कों पर उतर आए और उन्हें जेल भी जाना पड़ा।

आपातकाल के बाद वे सन 1977 से सन 1980 तक जनता पार्टी के युवा शाखा के अध्यक्ष रहे। सन 2002 से 2004 तक उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का उतरदायित्व संभाला। वे ‘अटल बिहारी वाजपेयी’ की सरकार में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रहे और ‘नरेन्द्र मोदी’ की सरकार में शहरी विकास, आवास तथा शहरी गरीबी उन्‍मूलन तथा संसदीय कार्य मंत्री है।

महत्वपूर्ण पड़ाव

  • 1973-1974 : अध्यक्ष, छात्र संघ, आन्ध्र विश्वविद्यालय।
  • 1974 : संयोजक, लोक नायक जय प्रकाश नारायण युवजन छात्र संघर्ष समिति, आंध्र प्रदेश।
  • 1977-1980 : अध्यक्ष, जनता पार्टी की युवा शाखा, आंध्र प्रदेश।
  • 1978-1985 : सदस्य, विधान सभा, आंध्र प्रदेश (दो बार)।
  • 1980-1985 : नेता, आंध्र प्रदेश भाजपा विधायक दल।
  • 1985-1988 : महासचिव, आंध्र प्रदेश राज्य भाजपा।
  • 1988-1993 : अध्यक्ष, आंध्र प्रदेश राज्य भाजपा।
  • 1993 – सितंबर, 2000 : राष्ट्रीय महासचिव, भारतीय जनता पार्टी, सचिव, भाजपा संसदीय बोर्ड, सचिव, भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति, भाजपा के प्रवक्ता।
  • 1998 के बाद : सदस्य, कर्नाटक से राज्यसभा (तीन बार) ।
  • 1 जुलाई, 2002 से 30 सितंबर, 2000 : भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री।
  • 1 जुलाई, 2002 से 5 अक्टूबर, 2004 : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष।
  • अप्रैल, 2005 के बाद : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष।
  • 26 मई, 2014 – 2017 : शहरी विकास, गृहनिर्माण एवं ग़रीबी निवारण और संसदीय मामलों के केंद्रीय मंत्री।
  • 2016–2017 : सूचना एवं प्रसारण मंत्री।
  • 5 अगस्त, 2017 : भारत के तेरहवें उपराष्ट्रपति निर्वाचित हुए।
  • 11 अगस्त, 2017 : उपराष्ट्रपति पद का कार्यभार ग्रहण किया। यह कार्यभार उन्होंने पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के सेवानिवृत्त होने के पश्चात् ग्रहण किया।