थेक्कडी | Thekkady in Hindi

677

थेक्कडी केरल का सबसे खास पर्यटन स्थल है। केरल-तमिलनाडु की सीमा के पास स्थित थेक्कडी अपनी एक खास संस्कृति और परंपरा के लिए विख्यात है। थेक्कडी का अनोखा भौगोलिक ढ़ाचा इसे अन्य पर्यटन स्थलों से अलग करता है। थेक्कडी का पेरियार वन्यजीव अभयारण्य दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यह वन्यजीव अभयारण्य प्रतिवर्ष लाखों विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर लुभाता है। घने सदाबहार वनों से भरपूर यह अभयारण्य कई वन्य जीवों जैसे हाथी, बाघ, जंगली सूअर, सांभर, शेर पूंछ मकाक, नीलगिरि तहर, नीलगिरि लंगूर आदि का बसेरा है। यह स्थान पेरियार नदी पर बनाई गई एक कृत्रिम झील से घिरा हुआ है। वन्यजीव अभयारण्य के अलावा यह स्थान काॅफी बागान और मसालों के लिए भी प्रसिद्ध है। यहां पर्यटक अच्छी गुणवत्ता वाले मसाले जैसे दालचीनी, लौंग, इलायची, जायफल, धनियां आदि को खरीद सकते हैं। इस क्षेत्र में पायी जाने वाली खास वनस्पति और वन्यजीव इस क्षेत्र के आकर्षण में चार चांद लगा देते हैं। झील के आस-पास हाथियों के घूमने का दृश्य पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देता है। फोटोग्राफी के शौकीन पर्यटकों के लिए यहां की घुमावदार पहाड़ियां बहुत ही मनोरम दृश्य पेश करती हैं। इस क्षेत्र में लंबी पैदल यात्रा, राॅक क्लाइम्बिंग और बैम्बू राफ्टिंग जैसी गतिविधियां पर्यटकों को अपनी ओर खींचती हैं।