टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 7 विकेट से हराया

525

भारतीय क्रिकेट टीम ने 8 जुलाई को ब्रिस्टल के मैदान में खेले गए अंतिम और निर्णायक टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में इंग्लैंड को 7 विकेट से हराकर भारत ने 2-1 से टी-20 सीरीज़ जीत ली। वैसे तो हार्दिक पंड्या ने विजयी छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत ज़रूर दिलाई है, लेकिन उनके अलावा इस मैच के दूसरे असली हीरो रोहित शर्मा ने शतकीय पारी खेलते हुए भारतीय टीम को जीत के लक्ष्य 199 रनों तक पहुंचाया। भारतीय टीम ने 19वें ओवर की चौथी गेंद पर कुल तीन विकेट खोकर 201 रन बना दिए थे।

इंग्लैंड की धमाकेदार शुरुआत

भारतीय क्रिकेट टीम ने टॉस जीतकर पहले इंग्लैंड की टीम को बल्लेबाज़ी के लिए आमंत्रित किया। इंग्लैंड ने नौ विकेट खोकर 198 रन बनाए और भारतीय टीम को 199 रनों का लक्ष्य दिया। भारतीय टीम ने इंग्लैंड की टीम को पहले बल्लेबाज़ी के लिए आमंत्रित तो कर दिया, लेकिन वह उसका पहला विकेट आठवें ओवर में चटका पाई। तब तक इंग्लैंट की टीम 94 रन बना चुकी थी। इंग्लैंड की टीम को पहला झटका जॉस टेलर (34) के रूप में लगा। सिद्धार्थ कौल ने उन्हें क्लीन बोल्ड किया। इसके बाद 10वें ओवर में जेसन रॉय का विकेट गिरा, लेकिन तब तक वो 31 गेंद में 67 रन बना चुके थे। इंग्लैंड की ओर से एलेक्स हेल्स ने 30 और जॉनी बेयरस्टॉ ने 25 रन बनाए। 20 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर इंग्लैंड ने 198 रन बनाए।

199 रनों के लक्ष्य का पीछा करने मैदान में उतरी टीम इंडिया की शुरुआत वैसे तो काफी हद तक अच्छी नहीं रही, क्योंकि शुरुआत के तीसरे ओवर की पहली ही गेंद पर शिखर धवन का विकेट गिरा। अभी भारतीय खिलाडी शिखर धवन ने 5 रन ही बनाये थे और वो डेविड विली की गेंद पर कैच आउट हुए। इसके बाद बल्लेबाज़ी करने उतरे के.एल राहुल भी केवल 19 रन बनाकर जेक बॉल की गेंद पर कैच आउट हो गए। इस तरह जब भारतीय टीम इंडिया के एक-एक करके लगातार गिर रहे विकेट पर रोक लगाने मैदान पर उतरे टीम इंडिया के दो धुरंधर बल्लेबाज रोहित शर्मा भारतीय टीम के कप्तान (विराट कोहली)।

विराट कोहली और रोहित शर्मा की जोड़ी ने मैदान पर आते ही धमाकेदार बल्लेबाज़ी की शुरुआत करके इंग्लैंड की सांसे तेज कर दी, जिसके चलते कप्तान विराट कोहली ने 43 रन और रोहित शर्मा ने नाबाद 100 रन बनाए।  आपको बता दें कि पहला टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच भारत ने जीता और दूसरा इंग्लैंड ने जीता था। इस मैच पर क्रिकेट प्रशंसकों की सांसें अटकी हुई थीं, क्योंकि आखिरी मैच कौन जीतेगा यह कहना तो मुश्किल था। हार्दिक पंड्या ने जहां 33 रन बनाए वहीं उन्होंने गेंद से भी करिश्मा दिखाते हुए चार विकेट लिए। सिद्धार्थ कौल ने दो जबकि दीपक चाहर और उमेश यादव ने एक-एक विकेट लिया।