टी. वी. मोहनदास पई की जीवनी | T. V. Mohandas Pai Biography in Hindi

393

परिचय

टी. वी. मोहनदास पई प्रसिद्ध IT कंपनी इनफ़ोसिस के पूर्व CFO (Chief Financial Officer) के पद पर रह चुके हैं और वर्तमान में “मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन” के अध्यक्ष हैं। पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट टी.वी. मोहनदास पई सन 1994 में इनफ़ोसिस में शामिल हुए थे। वो इनफ़ोसिस के ‘बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स’ के सदस्य थे। इसके अलवा वो इनफ़ोसिस के कई और दूसरे विभागों के अध्यक्ष भी थे, जिसमें ‘वित्त और मानव संसाधन’ विभाग प्रमुख थे।

टी. वी. मोहनदास पई सन 1994 से 2006 तक इन्फोसिस के मुख्य वित्त अधिकारी रहे। इन्फोसिस के मुख्य वित्तीय अधिकारी (CFO) के तौर पर उन्होंने कंपनी को दुनिया के सबसे सम्मानित और लोकप्रिय सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी बनाने में बहुत अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कंपनी के लिए भारत की पहली व्यापक रूप से स्पष्ट वित्तीय रणनीति तैयार की। उनके निर्देशन में बनी ‘इंफोसिस वार्षिक रिपोर्ट’ ने लगातार चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान से और लेखाकारों के दक्षिण एशियाई संघ से भी उत्तम पुरस्कार प्राप्त किया।

शुरूआती जीवन

टी.वी.मोहनदास पई ने बंगलौर के ‘सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स’ से वाणिज्य में स्नातक की पढ़ाई पूरी की और फिर बंगलौर विश्वविद्यालय से कानून में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। वो ICAI ( Institute of Chartered Accountants of India) के सदस्य भी हैं।

करियर

टी.वी. मोहनदास पई ने अपने जीवन की शुरुआत एक ट्रांसपोर्ट कंपनी ‘प्रकाश रोडलाइन्स’ से की, जो बैंगलोर में ही स्थित है। उसके बाद सन 1994 वे इनफ़ोसिस कम्पनी में शामिल हो गए। टी.वी. मोहनदास पई अपने एक मित्र के कहने पर सन 1994 में इनफ़ोसिस कम्पनी की AGM (Annual General Meeting) में भाग लेने पहुँच गए और वहां जाकर कंपनी के बड़े अधिकारियों से कंपनी के बारे में कई प्रश्न पूछे।

इसके बाद इनफ़ोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति ने नंदन निलेकनी को उनसे बात करने के लिए कहा। वो सन 1994 में इनफ़ोसिस में शामिल हो गए और लम्बे समय तक बोर्ड के सदस्य रहे। सन 1994 में वे इन्फोसिस के मुख्य वित्तीय अधिकारी बने और सन 2006 तक इस पद पर बने रहे। सन 2006 में CFO का पद छोड़कर वो कंपनी के अन्य विभाग जैसे शिक्षा, अनुसन्धान और मानव विकास संसाधन के विकास में लग गए।

अमेरिका के NASDAQ (National Association of Securities Dealers Automated Quotations) पर इनफ़ोसिस की लिस्टिंग में उन्होंने बहुमूल्य भूमिका निभाई। दिसंबर 2010 के बाद से उन्होंने पूर्णकालिक अध्यक्ष के रूप में ICDS लिमिटेड की सेवा की। वो भारत सरकार के वित्त मंत्रालय द्वारा गठित ‘केलकर समिति’ के सदस्य भी थे। इस समिति को प्रत्यक्ष करों के पुनर्गठन के लिए बनाया गया था। वे SEBI (Securities and Exchange Board of India) के बोर्ड के सदस्य भी हैं। 17 वर्ष की लम्बी सेवा के बाद सन 2011 में उन्होंने इनफ़ोसिस से इस्तीफ़ा दे दिया। वो केंद्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर शिक्षा, सूचना प्रौद्योगिकी और व्यवसाय के क्षेत्र में काम कर रहे हैं।

टी.वी. मोहनदास पई ने सन 2000 में ‘अक्षय पात्र फाउंडेशन’ की स्थापना बैंगलोर में की, जिसका उद्देश्य स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को दोपहर का खाना उपलब्ध कराना है। टी.वी. मोहनदास पई अंतर्राष्ट्रीय लेखा मानक समिति फाउंडेशन, जो अंतर्राष्ट्रीय लेखा मानक बोर्ड का पर्यवेक्षण करता है, में एक कोष प्रबंधक भी हैं। वो CSIR-tech प्राइवेट लिमिटेड के बोर्ड के सदस्य भी हैं। उन्हें सन 2014 में ‘अक्षय पात्र फाउंडेशन’ बोर्ड का अतिरिक्त निदेशक चुना गया।

जीवन घटनाक्रम

  • सन 1959 में टी. वी. मोहनदास पई का जन्म हुआ।
  • सन 1994 में इन्फोसिस में शामिल हुए।
  • सन 1996 में इन्फोसिस के मुख्य वित्तीय अधिकारी बन गए।
  • सन 2001में CFO ऑफ़ द इयर के लिए नामित किया।
  • फाइनेंस एशिया द्वारा सन 2002 में ‘भारत के सर्वश्रेष्ठ CFO’ का पुरस्कार दिया गया।
  • सन 2004 में एशिया मनी द्वारा ‘बेस्ट CFO इन इंडिया’ का सम्मान दिया।
  • सन 2011में टी. वी. मोहनदास ने इनफ़ोसिस से त्यागपत्र दे दिया।

अवार्ड और सम्मान

  • सन 2001 में टी.वी. मोहनदास पई को IMA इंडिया द्वारा ‘CFO ऑफ़ द इयर’ के लिए सम्मानित किया गया।
  • उन्हें सन 2002 में फाइनेंस एशिया द्वारा ‘भारत के सर्वश्रेष्ठ CFO’ का पुरस्कार दिया गया।
  • सन 2004 में एशिया मनी द्वारा निर्देशित सर्वेक्षण में उन्हें सर्वश्रेष्ठ प्रबंधित कंपनियों में ‘बेस्ट CFO इन इंडिया’ का सम्मान दिया गया।