प्रत्यय | Pratyay | Suffix in Hindi

1737

वे शब्दांश जो किसी शब्द के अंत में जुड़कर शब्द के अर्थ में विशेषता या परिवर्तन लाते हैं, उन्हें प्रत्यय कहते हैं।

जैसे –

कवि + त्व = कवित्व
गरीब + ई = गरीबी
हर्ष + इत = हर्षित
श्री + मान = श्रीमान्

प्रत्यय के प्रकार

प्रत्यय दो प्रकार के होते हैं|

Hindi Suffix

1) कृदन्त प्रत्यय

वे प्रत्यय जो क्रिया के मूलरूप के साथ जुड़कर नए शब्दों का निमार्ण करते हैं, उन्हें कृदन्त प्रत्यय कहते हैं।

प्रत्यय अर्थ शब्द रूप
हट भाव चिल्लाहट, घबराहट
अनीय योग्य परिवर्तनीय, परिवर्जनीय, दर्शनीय
आई भाव लड़ाई, पिटाई
करने नायक, ग्राहक, व्यापक
भाव बचत, खपत, लागत

2) तद्धित प्रत्यय

वे प्रत्यय जो संज्ञा, सर्वनाम, एवं विशेषण के साथ मिलकर नए शब्दों का निर्माण करते हैं, उन्हें तद्धित प्रत्यय कहते हैं।

प्रत्यय अर्थ शब्द रूप
कार करने वाले चर्मकार, स्वर्णकार
संख्या सूचक शतक, दशक
जात उत्पन्न जलजात, नवजात
करण भाव सरलीकरण, स्पष्टीकरण
कर देने या करने सुखकर, कष्टकर