सुभाष चंद्रा की जीवनी | Subhash Chandra Biography in Hindi

130

परिचय

डॉ. सुभाष चंद्रा भारत के प्रमुख उद्योगपतियों में से एक हैं। सुभाष चंद्रा ‘इंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज लिमिटेड’ के अध्यक्ष एवं एस्सेल समूह कंपनियों के संस्थापक भी हैं। उन्होंने लगातार नए व्यापारों की खोज करके और उन व्यापारों को आगे बढ़ाकर अपनी योग्यता का परिचय दिया है। उन्हें भारत में सेटेलाइट टेलीविजन क्रांति का जनक माना जाता है।

आज सुभाष चंद्रा का ज़ी एंटरटेनमेंट, करीब 70 चैनलों के माध्यम से विश्व के 167 देशों के कुल 73 करोड़ जनता तक पहुँचता है। उनकी आत्मकथा का विमोचन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 जनवरी 2016 को एक समाहरोह में किया। उन्हें 20 जून 2016 को हरियाणा राज्यसभा का सदस्य चुना गया।

शुरूआती जीवन

सुभाष चंद्रा का जन्म 30 नवंबर 1950 को हरियाणा राज्य के हिसार जिले के आदमपुर गाँव में बनियाँ परिवार में हुआ था। उनका मन बचपन से ही पढ़ने-लिखने में कम था और कक्षा 12 के बाद ही पढ़ाई छोड़ दी। व्यवसायी खानदान में जन्म होने की वजह से उनका ध्यान शुरू से ही अपना व्यापार स्थापित करने में था।

करियर

सुभाष चंद्रा ने केवल 19 वर्ष की आयु में वनस्पति तेल (Vegetable Oil) बनाने की कम्पनी की स्थापना की। इसके बाद वो चावल का कारोबार करने लगे और फिर अनाज निर्यात करने का व्यवसाय किया।

सन 1981 में एक पैकेजिंग एग्जिबिशन के समय सुभाष चंद्रा को पैकेजिंग कंपनी बनाने का मन में विचार आया और उन्होंने कंपनी स्थापित की और धीरे-धीरे उनका कारोबार बढ़ता गया। इसके बाद वे अपने जीवन के सबसे सफल ‘ब्रॉडकास्टिंग’ के बिजनेस में उतर गए।

2 अक्टूबर 1992 में सुभाष चंद्रा ने जी टीवी के नाम से भारत का पहला प्राइवेट सेटेलाइट चैनल शुरू किया। इसके बाद ज़ी समूह ने एक के बाद एक कई चैनेल शुरू किये। ज़ी टीवी के शुभारंभ के बाद उन्होंने वर्ष 1995 में ‘सीटी केबल’ शुरू किया और फिर दो नए चैनल, जी न्यूज और ज़ी सिनेमा का शुभारंभ 1995 में ‘न्यूज कॉर्प’ के साथ मिलकर कर दिया।

वर्ष 2000 में ‘ज़ी टीवी’ केबल के माध्यम से इंटरनेट कनेक्शन देने वाली पहली केबल कंपनी बन गयी। उन्होंने सन 2003 में ज़ी टीवी सॅटॅलाइट के माध्यम से DTH (Direct-to-Home) सेवा मुहिया करने वाली पहली कंपनी स्थापित की।

सुभाष चंद्रा के प्रमुख व्यवसाय इस प्रकार से हैं- जी टेलीविजन नेटवर्क, समाचार पत्र श्रृंखला (DNA), केबल सिस्टम (वायर एंड वायरलेस लिमिटेड), डायरेक्ट-टू-होम (डिश टीवी), उपग्रह संचार (Agrani और Procall), थीम पार्क (एस्सेल वर्ल्ड और वाटर किंगडम), ऑनलाइन गेमिंग (प्लेविन), शिक्षा (ज़ी लर्न), फ्लेक्सिबल पैकेजिंग (एस्सेल प्रोपैक), बुनियादी ढांचे के विकास (एस्सेल इन्फ्राप्रोजेक्ट्स लिमिटेड) और परिवार के मनोरंजन केंद्र (फन सिनेमाज)।

सुभाष चंद्रा ने सन 1996 में मल्टीमीडिया TALEEM (ट्रांसनेशनल अल्टेरनेटे लर्निंग फॉर एमैन्सिपेसन एंड एम्पावरमेंट थ्रू मल्टीमीडिया) की स्थापना की। इसका उद्देश्य ओपन लर्निंग के माध्यम से अच्छी पढ़ाई उपलब्ध कराना है। सुभाष चंद्रा ग्लोब विपासना फाउंडेशन के प्रेसिडेंट भी हैं। वे भारत में एकल विद्यालय फाउंडेशन के चेयरमैन भी हैं, यह एक धर्मार्थ संस्थान है, जो भारत में एकल विद्यालय का संचालन करता है। इसका उद्देश्य भारत के ग्रामीण और आदिवासी इलाके से शिक्षा का प्रचार-प्रसार करना है। इसके माध्यम से करीब 40 हजार गावों के 11 लाख से भी ज्यादा आदिवासी विद्यार्थियों को मुफ्त में शिक्षा दी जाती है।

सुभाष चंद्रा अंतरराष्ट्रीय फाउंडेशन ‘सिविलाइज्ड हारमोनी’ के संस्थापक चेयरमैन हैं। अभी हाल के समय में ज़ी समूह ने ‘जिन्दगी’ नाम का एक नया चैनल प्रारम्भ किया है, जो मुख्यतः पाकिस्तान में प्रसारित होने वाले सीरियल आदि दिखाता है। इसके अलावा जी समूह ने सन 2015 में एक नया मनोरंजन चैनल टी.वी. पर प्रारम्भ किया। ग्रुप के वैलनेस चैनल (वेरिआ) को ‘जी लिविंग’ का नाम दिया गया है। सन 2000 तक ज़ी टी.वी. समूह का लक्ष्य करीब 100 करोड़ दर्शकों तक पहुंचना है।

अवार्ड

  • सन 2011 में अन्तर्राष्ट्रीय एम्मी\निदेशालय अवार्ड से सम्मानित किया गया।
  • सन 2016 में कनाडा इण्डिया फाउंडेशन, चंचलानी ग्लोबल इण्डिया अवार्ड से सम्मानित किया गया।