सर्पगंधा | Sarpagandha | Snakeroot in Hindi

516
हिंदी नाम अंग्रेजी नाम (English Name) वैज्ञानिक नाम (Scientific Name)
सर्पगंधा स्नाकेरूत (Snakeroot) रावोल्फिया सर्पेंटीना (Rauvolfia serpentina)

 

सर्पगंधा का वैज्ञानिक नाम रावोल्फिया सर्पेंटीना (Rauvolfia serpentina) है। सर्पगंधा से गठिया (Arthritis), शीघ्रपतन (Premature Ejaculation), उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure), दस्त (Diarrhea)और कब्ज (Constipation) जैसी आदि समस्याओं में लाभ मिलता है।

सर्पगंधा के फायदे

  1. सर्पगंधा के जड़ का रस उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) को नियंत्रित करता है।
  2. सर्पगंधा दिल के दौरे और दिल की धमनियों को सख्त होने से रोकने में मदद करता है।
  3. सर्पगंधा थकान और बेचैनी को दूर करके शरीर की उर्जा को बढ़ाता है।
  4. सर्पगंधा की जड़ का चूर्ण सेवन करने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।
  5. सर्पगंधा से दस्त (Diarrhea) और कब्ज (Constipation) जैसी समस्याओं में राहत मिलती है।
  6. सांप के काटने पर सर्पगंधा को पानी में घिसकर और सर्पगंधा का लेप प्रभावित स्थान पर लगाने से विष का असर ख़त्म होता है।
  7. सर्पगंधा गठिया (Arthritis) रोग की सुजन और दर्द को कम करने में मदद करता है।
  8. सर्पगंधा की पत्तियों के रस से मोतियाबिंद रोग का उपचार होता है।
  9. सर्पगंधा शीघ्रपतन (Premature Ejaculation) की समस्या को दूर करके यौन क्रिया को उत्तम बनाने में मदद करता है।
  10. मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति को सर्पगंधा की पत्तियों का सेवन कराने से लाभ मिलता है।

सर्पगंधा के नुकसान

  1. सर्पगंधा से मतली, नाक से खून बहना और भूख कम लगना जैसी समस्याएँ हो सकती हैं।
  2. सर्पगंधा का अधिक सेवन करना पेट से सम्बंधित समस्याओं का कारण बन सकता है।
  3. गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलायों के लिए सर्पगंधा का सेवन करना हानिकारक हो सकता है।