ॐ ग्लां ग्लीं ग्लूं गं गणपतये नम:
प्रकाशय ग्लूं गलीं ग्लां फट् स्वाहा।।