परिचय

शिवराज सिंह चौहान भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष है। वे 29 नवंबर 2005 को ‘बाबूलाल गौर’ के स्थान पर राज्य के मुख्यमंत्री बने थे, उन्होंने 16 दिसम्बर 2018 तक मध्य प्रदेश राज्य का मुख्यमंत्री पद संभाला। वे मध्यप्रदेश राज्य के 17वें मुख्यमंत्री रहे। मध्य प्रदेश  के लोग उन्हें ‘मामा’ कहकर पुकारते हैं। वे सन 1975 में मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूल के छात्रसंघ अध्यक्ष रहे। उन्होंने आपातकाल का विरोध किया और 1976-77 में भोपाल जेल में निरूद्ध रहे। उन्होंने अनेक जन समस्याओं के समाधान के लिए आंदोलन किए और कई बार जेल गए। सन 1977 से वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक हैं।

Shivraj Singh Chouhan Biography in Hindi

जन्म एवं शिक्षा

शिवराज सिंह चौहान का जन्म मध्य प्रदेश राज्य के सीहोर जिले के जैतगाँव में 5 मार्च 1959 को एक किरार राजपूत परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम ‘प्रेमसिंह चौहान’ तथा उनकी माता का नाम ‘सुन्दरबाई चौहान’ हैं। उन्‍होंने भोपाल के बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (दर्शनशास्त्र) तक स्वर्ण पदक के साथ शिक्षा प्राप्‍त की।

विवाह

शिवराज सिंह चौहान का विवाह सन 1992 में ‘साधना सिंह’ के साथ विवाह हुआ। दंपत्ति के 2 पुत्र हैं।

राजनैतिक करियर

शिवराज सिंह चौहान सन 1990 में पहली बार बुधनी विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। इसके बाद सन 1991 में विदिशा संसदीय क्षेत्र से 10वीं लोकसभा में पहली बार सांसद चुने गए। सन 1996 में 11वीं लोकसभा के लिए उन्हें दूसरी बार नियुक्त किया गया। वे शहरी और ग्रामीण विकास समिति के सदस्य और परामर्शदात्री समिति, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सदस्य और सन 1996 -97 तक शहरी और ग्रामीण विकास समिति के सदस्य रहे।

सन 1998 में उन्हें 12वीं लोकसभा के लिए तीसरी बार चुना गया। वे 1998-99 में शहरी और ग्रामीण विकास पर समिति और ग्रामीण क्षेत्रों और रोजगार मंत्रालय में इसकी उप-समिति के सदस्य थे। सन 1999 में 13वीं लोकसभा के लिए चौथी बार चुना गया। वे 1999-2000 में कृषि संबंधी समिति के सदस्य थे, सन 1999 से 2001 तक सार्वजनिक उपक्रमों की समिति के सदस्य और सन 2000 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। सन 2003 में वे हाउस कमेटी (लोकसभा) के अध्यक्ष और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव भी थे।

दिसंबर 2003 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने मध्य प्रदेश को जीत दिलाई। उस समय, शिवराज सिंह चौहान ने राघौगढ़ से वर्तमान मुख्यमंत्री ‘दिग्विजय सिंह’ के खिलाफ असफल चुनाव लड़े थे। वे सन 2000 से 2004 तक परामर्शदात्री समिति, संचार मंत्रालय के सदस्य थे।

सन 2004 में 14वीं लोकसभा के लिए पांचवी बार 260,000 से अधिक मतों के अंतर से चुना गया। वे कृषि संबंधी समिति के सदस्य, लाभ के कार्यालयों की संयुक्त समिति के सदस्य, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव, संसदीय बोर्ड के सचिव और सचिव (केंद्रीय चुनाव समिति) के सदस्य थे। उन्होंने लोकसभा की हाउसिंग कमेटी और नैतिकता समिति के सदस्य का नेतृत्व किया।

मुख्यमंत्री पद

  • शिवराज सिंह चौहान सन 2005 में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किये गये।
  • शिवराज सिंह चौहान को 29 नवम्बर 2005 को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई।
  • प्रदेश की 13वीं विधानसभा के निर्वाचन में शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक की भूमिका का बखूबी निर्वहन कर विजयश्री प्राप्त की।
  • शिवराज सिंह चौहान को 10 दिसम्बर 2008 को भारतीय जनता पार्टी के 143 सदस्यीय विधायक दल ने सर्वसम्मति से नेता चुना।
  • शिवराज सिंह चौहान ने 12 दिसम्बर 2008 को भोपाल के जंबूरी मैदान में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ग्रहण की।
  • 16 दिसंबर 2018 को, मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने में विफल रहने के बाद, शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।