साल 2018 का एशिया कप में भारत की प्लेइंग इलेवन

128

इंग्लैंड दौरा खत्म हो चुका है उम्मीद है भारतीय टीम अपने निराशा जनक प्रदर्शन को पीछे छोड़कर 18 सितंबर से एशिया कप में अपने नए अभियान की शुरुआत करेगी। विराट कोहली की गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा को कप्तान की कमान सौंपी जा रही है। भारतीय टीम के पास वर्ल्ड कप से पहले खुद को साबित करने का अच्छा मौका है। 18 सितंबर को भारत का मुकाबला हांगकांग से होगा और उसके अगले ही दिन वह अपने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से भिड़ेगा। ऐसे में भारतीय टीम के प्लेइंग इलेवन का चयन बड़ा सिरदर्द वाला होगा।

भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर

कप्तान रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी पर ओपनिंग की जिम्मेदारी होगी। विराट कोहली की गैरमौजूदगी में इन दोनों पर दबाव दोगुना हो जाएगा और भारत को अच्छी शुरुआत मिली तो टीम के पास जीत के अच्छे मौके होंगे।

भारतीय क्रिकेट टीम के मिडिल ऑर्डर

क्रिकेट में सबसे मुश्किल काम होगा मिडिल ऑर्डर का सेलेक्शन। इसमें के एल राहुल, मनीष पांडे, अंबति रायडू, केदार जाधव और दिनेश कार्तिक के बीच जगह बनाने की होड़ होगी। लेकिन कॉम्बिनेशन को देखते हुए नंबर 3 पर राहुल, नंबर 4 पर मनीष पांडे और नंबर 5 पर केदार जाधव को मौका मिल सकता है।

भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर और नंबर 6

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और सबसे अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी पर विकेटकीपिंग और नंबर 6 पर बल्लेबाजी की कमान सौंपी जाएगी।

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर

भारतीय क्रिकेट टीम में ऑलराउंडर के स्थान के लिए हार्दिक पंड्या और अक्षर पटेल के ऊपर जिम्मेदारी होगी। अगर हालात स्पिन गेंदबाजों के अनुकूल रहे तो अक्षर पटेल बड़े दावेदार होंगे। लेकिन, पावर हिटिंग और फिनिशर के रोल को देखते हुए हार्दिक पंड्या को तरजीह दी जा सकती है।

 भारतीय क्रिकेट के स्पिनर

स्पिन गेंदबाजों के लिए काफी मदद है, जिसकों देखते हुए युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव दोनों का खेलना लगभग तय है। ये दोनों ही विपक्षी टीम के बल्लेबाजों के लिए मुश्किलें खड़ी करने के लिए तैयार हैं।

भारतीय क्रिकेट के तेज गेंदबाज

टीम इंडिया के एशिया कप स्क्वॉड में भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, खलील अहमद और शार्दुल ठाकुर शामिल हैं। लेकिन, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की जोड़ी पहली पसंद होगी।यदि इस बार भी भारतीय टीम जीतती है तो 7वां मौका होगा, जब वह खिताब अपने नाम करेगी।