RSS के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रणब मुखर्जी नागपुर पहुंचे

0
75

भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज शाम को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यकम में हिस्सा लेने नागपुर के लिए रवाना होंगे। आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी के इस कदम पर सियासी हलचल तेज है। इसके साथ ही कांग्रेस के तमाम नेता इस दौरे के विरोध कर रहे हैं। यहाँ तक खुद उनकी अपनी बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने अपने पिता प्रणब मुखर्जी को सख्त नसीहत दे डाली है।

यह कार्यक्रम आज नागपुर के रेशमबाग मैदान में होने वाली राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तृतीय वर्ष शिक्षा वर्ग समापन समारोह के मौके पर है। इस कार्यक्रम में ना सिर्फ भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी शरीक हो होंगे, बल्कि मुख्य अतिथि के रूप में भी नजर आयेंगे और RSS के पासिंग आउट कार्यक्रम में भी शामिल होंगे।

आज सबकी नजर नागपुर के इस कार्यक्रम पर रहेगी। इस कार्यक्रम की तैयारी काफी अच्छी तरह से की गयी है। इसके साथ ही विरोध और समर्थन के बीच यह तो तय है कि जब प्रणब मुखर्जी इस मंच पर जायेगें, तब यह पता चल जायेगा कि आखिर दादा के दिल में क्या है। लोगों का मानना है कि प्रणब मुखर्जी भले ही जिन्दगी भर कांग्रेस के रंग में रंगे क्यों ना रहे हो, लेकिन  भारत के राष्ट्रपति बनने के बाद लोगों को उनका असली चेहरा सामने आया है। लोगों का कहना है कि संविधान के मूल्यों से पूरी तरह बंधे हुआ राष्ट्रपति के रूप में प्रणब मुखर्जी से RSS प्रमुख मोहन भगवत की राष्ट्रपति भवन में कई बार मुलाकात भी हुई है। यहाँ तक यह कहा जाता है कि प्रणब मुखर्जी ने अपना पद छोड़ने के बाद भी मोहन भगवत को अपने यहाँ खाने पर भी बुलाया था। वास्तव में देखा जाये तो  भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की राजनीतिक शख्सियत इतनी बड़ी है कि खुद प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी उनको पिता तुल्य मानते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here