लाल मिर्च | Lal Mirch ke Fayde | Benefits of Red Chilly in Hindi

165

लाल मिर्च का वैज्ञानिक नाम कैप्सिकम फ्रूटसेन्स (Capsicum Frutescens) है। लाल मिर्च में अमीनो एसिड, एस्काॅर्बिक एसिड, फोलिक एसिड, सिट्रिक एसिड, मैलिक एसिड, मौलोनिक एसिड, जैसे कई महत्तवपूर्ण तत्व पाए जाते हैं। लाल मिर्च में हरी मिर्च के मुकाबले कई गुना ज्यादा गुण होते हैं।

लाल मिर्च के फायदे

  1. कुत्ते द्वारा काटे जाने पर लाल मिर्च पीसकर, उसमें खाने वाला तेल मिलाकर, घाव पर लगाने से विष समाप्त हो जाता है।
  2. गठिया रोग से पीड़ित व्यक्ति को नियमित रूप से लाल मिर्च का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद प्रोटीन (Protein) और कैपसाइसिन (capsaicin) तत्व गठिया रोग को खत्म करता है।
  3. लाल मिर्च का सेवन करने से हृदय स्वस्थ रहता है और शरीर में रक्त प्रवाह भी बढ़ता है।
  4. सांप ने काटा है या नहीं, इसकी पहचान लाल मिर्च को खाने पर उसके तीखेपन से पता लग जाती है।
  5. पेट दर्द होने पर पिसी हुई लाल मिर्च गुड में मिलाकर खाने से पेट दर्द में आराम मिलता है।
  6. बिच्छू द्वारा काटे गए स्थान पर लाल मिर्च पीसकर लगाने से जलन शांत हो जाती है।
  7. लाल मिर्च शरीर में कैलोरी जलाने में मदद करती है, इसमें मौजूद कैपसाइसिन (Capsaicin) तत्व भूख कम करता है।
  8. लाल मिर्च विभिन्न गैस्ट्रिक (Gastric) समस्याओं के इलाज में मदद करती है, जिससे पाचन क्रिया सही बनी रहती है।
  9. लाल मिर्च को तेल में पीसकर फोड़े-फुंसियों पर लगाने से आराम मिलता है।
  10. लाल मिर्च कैंसर को रोकने में मदद करती है, इसमें मौजूद कैप्साइसिन (Capsaicin) तत्व हमारे शरीर, फेफड़े और अग्न्याशय में मौजूद कैंसर कोशिकाओं को खत्म करते है।

लाल मिर्च के नुकसान

  1. लाल मिर्च के सेवन से मुंह से संबंधित समस्याएं बन सकती हैं।
  2. लाल मिर्च को खाने से हार्टबर्न के साथ-साथ एसिडिटी, पेट में जलन की समस्या भी बनती है, परिणामस्वरूप पाचन-तंत्र खराब रहता है।
  3. लाल मिर्च के अत्यधिक सेवन से मितली और डायरिया की समस्या बन सकती है।
  4. लाल मिर्च का ज्यादा सेवन करने से पेप्टिक अल्सर (Peptic ulcer) और गैस्ट्रिक (Gastric) की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।
  5. गर्भावस्था में अधिक मात्रा में लाल मिर्च के सेवन से बच्चे का समय से पूर्व जन्म होने का खतरा रहता है।