रणवीर सिंह की जीवनी | Ranveer Singh Biography in Hindi

59

रणवीर सिंह भारतीय हिंदी फिल्मों के अभिनेता हैं। रणवीर सिंह ‘इंडियाना यूनिवर्सिटी’, ब्लूमिंगटन (अमेरिका) से ‘बैचलर ऑफ आर्ट्स’ (B.A.) की पढ़ाई कर रहे थे, तो उनका एक वैकल्पिक विषय ‘एक्टिंग’ भी था। इस कोर्स को करने के दौरान रणवीर सिंह की रूचि पुनः अभिनय जगत की ओर हुई और उन्होंने निश्चय किया कि वो भारत आकर एक्टिंग में अपनी किस्मत आजमाएंगे।

भारत आने के बाद उन्होंने मुख्य किरदारों के लिए हिंदी फिल्म उद्योग में ऑडिशन देने शुरू किए। सन 2010 में ‘अनुष्का शर्मा’ के साथ ‘यश राज’ फिल्म्स की रोमांटिक कॉमेडी फिल्म ‘बैंड बाजा बारात’ से उन्होंने एक्टिंग में डेब्यू किया था। इनकी पहली ही फिल्म को आर्थिक सफलता मिली और आलोचकों ने भी उनके अभिनय की काफी प्रशंसा की थी।

रणवीर सिंह को अपनी भूमिका निभाने के लिए सर्वश्रेष्ठ नए पुरुष अभिनेता के ‘फिल्मफेयर अवार्ड’ से सम्मानित किया गया था। रणवीर सिंह ने सन 2013 में रोमांटिक ड्रामा फिल्म ‘लुटेरा’ में ‘दिपिका पादुकोण’ के साथ लीला भंसाली की ट्रैजिक रोमांस फिल्म ‘गोलियों की रासलीला राम-लीला’ की और उस समय यह फिल्म उनके करियर की सफल फिल्म रही और सन 2014 में फिर इनकी एक और सफल फिल्म ‘गुंडे’ रही।

शुरूआती जीवन

रणवीर सिंह का जन्म 6 जुलाई 1985 को एक सिन्धी परिवार में हुआ। उनके पिता का नाम ‘जगजीत सिंह भावनानी’ और माता का नाम ‘अंजू’ है। उनके दादा का नाम सुंदर सिंह भावनानी और दादी का नाम चाँद बुर्के था, जो विभाजन के बाद कराची सिंध से मुंबई में आकर बस गए थे। उनकी एक बड़ी बहन भी है, जिनका नाम ‘रितिका भावनानी’ है। रणवीर सिंह बचपन से ही एक्टर बनना चाहते थे, इसके लिए वे स्कूल में आयोजित बहुत से नाटकों और बहुत सी वक्तृत्व स्पर्धाओं (Oratory competition) में भी भाग लेते थे।

रणवीर सिंह को मुंबई के ‘H.R कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स’, में दाखिल लेने के बाद अनुभव हुआ कि फिल्मों में काम करना इतना भी सरल काम नहीं है, क्योंकि उन्हें बहुत से लोगों ने यह बताया था कि जिनका पारिवारिक इतिहास फिल्मों से जुड़ा हुआ होता है, वही लोग फिल्म क्षेत्र में आगे बढ़ सकते हैं। जब रणवीर सिंह को इस बात का अनुभव हुआ कि वे एक्टिंग नहीं कर पाएंगे, तो उन्होंने प्रभावशाली लेखन पर ज्यादा ध्यान दिया।

यूनाइटेड स्टेट की इंडियाना यूनिवर्सिटी से उन्होंने बैचलर ऑफ़ आर्ट्स की डिग्री हासिल की। यूनिवर्सिटी में, उन्होंने एक्टिंग का प्रशिक्षण भी लिया था और बाल्यावस्था में ही वे थिएटर में जाने लगे थे। सन 2007 में पढाई पूरी करने के बाद मुंबई वापिस आ गए।

इसके बाद रणवीर सिंह कुछ सालों तक O&M और J. Walter Thompson जैसी एजेंसी के लिये एडवरटाईजमेंट करने लगे थे। उन्होंने असिस्टेंट डायरेक्टर का काम किया था, लेकिन एक्टिंग में करियर बनाने के लिये उन्होंने इस काम को भी छोड़ दिया था। इसके बाद वे एक्टिंग के लिये होने वाले सभी ऑडिशन में हिस्सा लगे थे, लेकिन उन सभी में रणवीर सिंह को सफलता नहीं मिल सकी। ऑडिशन के बाद उन्हें फिल्मों में केवल छोटे-छोटे रोल ही मिलने लगे थे।

अवार्ड

रणवीर सिंह को अब तक 2 फिल्मफेयर अवार्ड मिल चुके हैं, जिनमें ‘बैंड बाजा बारात’ (2010) के लिये ‘बेस्ट मेल डेब्यू अवार्ड’ और प्रियंका चोपड़ा और दिपिका पादुकोण के साथ आयी फ़िल्म ‘बाजीराव मस्तानी’ (2016) के लिये ‘बेस्ट एक्टर’ का अवार्ड मिला था। इसके साथ-साथ 2013 में आयी फिल्म ‘गोलियों की रासलीला राम-लीला’ के लिये उनका नाम निर्देशन बेस्ट एक्टर की सूची में भी किया गया।

यह है फिल्मों के बाजीराव की असल कहानी, जो बॉलीवुड में उनके संघर्ष को बयाँ करती है और बताती है कि अगर इंसान के अंदर कुछ कर गुजरने की इच्छा हो, तो हर इंसान अपने सपनों की पूरा करने की काबिलियत रखता है। हम सभी रणवीर सिंह के इस हौसले को सलाम करते हैं।

अभिनय

बॉलीवुड के नयी पीढ़ी के सफल और टैलेंटेड एक्टर्स की बात की जाये, तो रणवीर सिंह आजकल शीर्ष पर चल रहे हैं। उनकी फ़िल्में हिट हो रही हैं और कई अलग तरह के किरदारों को निभा कर उन्होंने अपनी अभिनय क्षमता का परिचय दिया है। एक सम्पूर्ण कलाकार के रूप में रणवीर सिंह न सिर्फ एक अच्छे एक्टर है, इसके साथ ही बढ़िया डांसर और एंटरटेनर भी हैं।

आजकल हर जगह रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण दोनों साथ-साथ नजर आते हैं, लेकिन कॉलेज के दिनों में रणवीर सिंह उनके साथ पढने वाली अभिनेत्री ‘हेमा मालिनी’ की बेटी ‘आहना देओल’ के साथ दिखाई देते थे।

रणवीर सिंह द्वारा की गई फिल्में-

  •  2010- बैंड बाजा बारात
  • 2011- Ladies vs Ricky Bahl
  • 2013- बॉम्बे टॉकीज़
  • 2013- लुटेरा
  • 2013- गोलियों की रासलीला राम-लीला
  • 2014- गुंडे
  • 2014- Finding Fanny
  • 2014- किल दिल
  • 2015- हे ब्रो
  • 2015- दिल धड़कने दो
  • 2015- बाजीराव मस्तानी
  • 2016- बेफिक्रे
  • 2018- पद्मावत
  • 2018- Teefa in Trouble
  • 2018- सिम्मबा (अभी रिलीज नही हुई)
  • 2019- Gully Boy(अभी रिलीज नही हुई)