पंजाब के अमृतसर में आतंकी मूसा के घुसने की आशंका

160

जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकी जाकिर मूसा के पंजाब के बॉर्डर एरिया में घुसने की आशंका को लेकर दीनानगर, गुरदासपुर सहित कई थानों और सेकंड डिफेंस नाकों पर मूसा के पोस्टर लगाए गए हैं। पोस्टर में मूसा की 4 तस्वीरें हैं।

थानों पर करीब एक हफ्ते पहले ही ये पोस्टर लगाए थे, लेकिन माधोपुर में 4 संदिग्ध लोगों द्वारा इनोवा छीनकर भागने और फिरोजपुर जिले में जैश आतंकियों के घुसपैठ के बाद मूसा के पोस्टर कई और जगह भी लगाए गए हैं। SSP गुरदासपुर स्वर्णदीप सिंह ने कहा- “एक हफ्ते पहले आतंकी मूसा के अमृतसर में मूवमेंट का इनुपट मिला था। एहतियात के तौर पर पोस्टर लगाए गए हैं।” गौरतलब है कि हाल ही में जालंधर से हथियारों के साथ पकड़े गए स्टूडेंट्स के तार आतंकी मूसा से ही जुड़े थे।

घाटी में सेना की सख्ती से अकेला पड़ चुका है मूसा

जम्मू-कश्मीर में सेना की सख्ती के चलते अकेले पड़ चुके जाकिर मूसा के पहाड़ों या फिर साथ लगते पंजाब के सरहदी इलाके में आकर छिपने की खुफिया एजेंसियों से सूचना मिली है। SSP स्वर्णदीप सिंह के अनुसार खुफिया एजेंसियों के अलर्ट पर ही उसके वांटेड के पोस्टर लगाए गए हैं।

चंडीगढ़ में पढ़ता था आतंकी मूसा

कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठन अंसार गजवत उल हिंद को कमांडर जाकिर रशीद बट उर्फ जाकिर मूसा चलाता है। उसके ग्रुप में पढ़े-लिखे आतंकी हैं। वह खुद चंडीगढ में पढ़ता था। मूसा के पंजाब में भी काफी लिंक है। 2013 में पढ़ाई छोड़कर हिजबुल में शामिल हुआ। उसके बाद जब बुरहान वानी मारा गया तो 2017 में अपना संगठन बनाया, जो अलकायदा का ही एक ग्रुप है।

पठानकोट में इनोवा लूटकांड में पुलिस खाली हाथ

पठानकोट के माधोपुर से 4 संदिग्धों द्वारा छीनी गई इनोवा मामले में 3 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। उधर, खुफिया एजेंसियों की ओर से पठानकोट से दीनानगर की तरफ से आने वाले लदपालवां टोल प्लाजा और जालंधर रोड पर मानसर टोल प्लाजा की CCTV फुटेज खंगाली गई, लेकिन इनोवा इन दोनों टोल प्लाजों से नहीं गुजरी थी। इससे संदिग्धों के पठानकोट या आसपास होने की आशंका है। जम्मू में 2 दिन तक जांच के बाद पंजाब पुलिस शुक्रवार को लौट आई। पता चला कि संदिग्धों ने 13 नवंबर को जम्मू बस स्टैंड से गाड़ी बुक करने की कोशिश की थी, लेकिन बात नहीं बनने पर वे रेलवे स्टेशन गए थे। वहीं, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व लखनपुर में CCTV भी खंगाले गए लेकिन हाथ कुछ नहीं लगा।