प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना की घोषणा वित्तमंत्री श्री अरूण जेटली ने 28 फरवरी 2015 को अपने वार्षिक बजट 2015-2016 में की। इस योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 9 मई 2015 को कोलकाता में किया। भारत में बहुत बड़ी जनसंख्या ऐसी है जिनके पास किसी भी तरह का जीवन बीमा नहीं है, इसलिए प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना शुरू की गई।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एक प्रकार की दुर्घटना बीमा पाॅलिसी है, जिसके अंतर्गत दुर्घटना के समय मृत्यु एवं पूर्णतः विकलांग होने पर बीमा की राशि के लिए क्लेम किया जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत मृत्यु एवं पूर्णतः विकलांग होने पर 2 लाख रूपये एवं आंशिक तौर पर अपंग होने पर 1 लाख रूपये बीमा राशि दी जायेगी। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से 18 से 70 वर्ष का भारतीय नागरिक जुड़ सकता है। इस योजना से जुड़ने पर 12 रूपये प्रति वर्ष की राशि प्रीमियम के तौर पर धारक को देनी होगी।

  • प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अंतर्गत 18 से 70 वर्ष का भारतीय नागरिक लाभ उठा सकता है।
  • प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से जुड़ने के लिए आधार कार्ड का होना अनिवार्य है।
  • अगर किसी उपभोक्ता के एक से अधिक बचत खाते हैं, तब वे किसी एक बचत खाते के जरिये योजना से जुड़ सकते हैं।

इस योजना का प्रीमियम ही इस योजना की खासियत है। इस योजना के संचालन का तरीका ठीक प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना की तरह ही है। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना की वैद्यता एक साल की होगी, जिसका हर साल नवीनीकरण करवाना आवश्यक होगा। यह बीमा योजना सभी प्रकार की नामित बीमा कंपनियों एवं बैंक में शुरू की गई है। इसके अलावा अन्य बीमा कंपनी जो कि सभी प्रकार की शर्तों के साथ इस योजना को सुचारू कर रही हैं, वे भी इस योजना में शामिल हैं। वर्तमान समय में यह योजना भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) द्वारा शुरू की जायेगी। बाद में इसे अन्य निजी बैंक या LIC (Life Insurance Corporation of India) के साथ जोड़ दिया जायेगा।