निर्मला सीतारामन की जीवनी | Nirmala Sitharaman Biography in Hindi

214

परिचय

निर्मला सीतारमन भारतीय जनता पार्टी (BJP) की एक राजनीतिज्ञ और भारत की रक्षामंत्री हैं। वे रक्षामंत्री बनने से पहले भारत की वाणिज्य, उद्योग, वित्त तथा कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री रह चुकी हैं। वे भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रह चुकी हैं। निर्मला सीतारमन भारत की पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री हैं।

जन्म एवं शिक्षा

निर्मला सीतारमन का जन्म 18 अगस्त 1959 को तमिलनाडु के तिरुचिपल्ली में हुआ था। उनके पिता का नाम ‘नारायण सीतारामन’ तथा उनकी माता का नाम ‘सावित्री’ था। निर्मला सीतारमन ने सन 1980 में सीतालक्ष्मी रामास्वामि कॉलेज तिरुचिपल्ली, तमिलनाडु से स्नातक की शिक्षा पूर्ण की। उन्होंने जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय से अंतरराष्टीय अध्यन विषय में M.Phil (Master of Philosophy) की डिग्री हासिल की।

कार्य

निर्मला सीतारमन ‘प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स’ के साथ वरिष्ठ प्रबंधक के रूप में भी काम कर चुकी हैं। उन्होंने कुछ समय के लिए BBC (British Broadcasting Corporation) विश्व सेवा के लिए भी काम किया किया।

राजनैतिक करियर

निर्मला सीतारामन सन 2003 से सन 2005 तक राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्या रह चुकी हैं। वे भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता के साथ-साथ भारत की वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री रहीं हैं। उन्हें 03 सितंबर 2017 को नरेंद्र मोदी की सरकार में रक्षा मंत्री बनाया गया। वे श्रीमती इंदिरा गाँधी के बाद भारत के रक्षा मंत्रालय की कमान संभालने वाली स्वतंत्र भारत की दूसरी महिला नेत्री और स्वतंत्र रूप से पहली पूर्णकालिक महिला रक्षामंत्री हैं।

निजी जीवन

निर्मला सीताराम का विवाह डॉ॰ ‘परकल प्रभाकर’ से हुआ, जो जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय और लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स के पूर्व छात्र हैं। वो एक राजनीतिज्ञ, राजनीतिक टीकाकार, लोकप्रिय टीवी एंकर और एक बुद्धिजीवी हैं। वर्तमान में डॉ॰ परकल प्रभाकर राईटफोलियो में MD (Medicinae Doctor) हैं।

रोचक तथ्य

निर्मला सीतारमण की लव मैरिज हुई थी। उनके पति डॉ परकल प्रभाकर और निर्मला सीतारमण दोनों ही जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पढाई करते थे। वही से उन दोनों ने शादी करने का निर्णय लिया, दम्पत्ति की एक बेटी हैं। शादी के बाद दोनों लंदन में बस गए थे, फिर बेटी के जन्म के बाद वे भारत वापस आकर हैदराबाद शहर में बस गए। निर्मला सीतारमण को कॉटन की साड़िया, गले में चेन और हाथों में कड़े पहनना पसंद है, उन्हें अखबार पढ़ने का काफी शौक है।