नैतिकता कोट्स | Naitikata Quotes | Morality Quotes in Hindi

472

नैतिकता “अच्छे” (सही) और “बुरे” (गलत) व्यवहार वाले उन लोगों के बीच इरादों, फैसलों और कार्यों के भेदभाव को दर्शाती है।

नैतिकता के प्रमुख कोट्स:

“इंतज़ार करने वालों को सिर्फ उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं।” – Abdul Kalam
“जो अपने कर्तव्यों से बचते हैं, वे अपने आश्रितों परिजनों का भरण-पोषण नहीं कर पाते।” – Chanakya
“अगर हम साथ आ जाएं तो कुछ भी असम्भव नहीं है।” – Arvind Kejriwal
“सच्चाई का रास्ता आसान नहीं बल्कि काँटों भरा है और हम आने वाली सभी मुश्किलों का सामना करेंगे।” – Arvind Kejriwal
“जो भी प्रधानमंत्री बनता है वो किसी भी पार्टी का नहीं इस देश का प्रधानमंत्री होता है।” – Kapil Sharma
“एक दूसरे को दोषारोपण करके किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता बल्कि एक साथ होकर होता है।” – Sushma Swaraj
“जो अपने लिए जीते हैं वो मर जाते हैं, जो समाज के लिए मरते हैं वो जिंदा रहते हैं।” – Anna Hazare
“हमेशा आराम की चाहत में, तुम आलसी हो जाते हो। हमेशा पूर्णता की चाहत में, तुम क्रोधित हो जाते हो। हमेशा अमीर बनने की चाहत में, तुम लालची हो जाते हो।” – Shri Ravi Shankar
“बुद्धिमान वो हैं जो औरों की गलती से सीखता है। थोड़ा कम बुद्धिमान वो है जो सिर्फ अपनी गलती से सीखता है। मूर्ख एक ही गलती बार-बार दोहराते रहते हैं और उनसे कभी सीख नहीं लेते।” – Shri Ravi Shankar
“मर्यादाओं का उल्लंघन करने वाले का कभी विश्वास नहीं करना चाहिए।” – Chanakya
“भूल करने में पाप तो है ही, परन्तु उसे छुपाने में उससे भी बड़ा पाप है।” – Mahatma Gandhi
“आत्म स्तुति अर्थात अपनी प्रशंसा अपने ही मुख से नहीं करनी चाहिए।” – Chanakya
“स्तुति करने से देवता भी प्रसन्न हो जाते हैं।” – Chanakya
“अत्यधिक आदर-सत्कार से शंका उत्पन्न हो जाती है।” – Chanakya
“पुत्र को पिता के अनुकूल आचरण करना चाहिए।” – Chanakya
“मूर्खों से विवाद नहीं करना चाहिए।” – Chanakya
“जब कोई राष्ट्र हथियार युक्त देशों से घिरा हो, तो उसे भी हथियार युक्त होना पड़ेगा।” – Abdul Kalam
“जिस समय, जिस काम के लिए प्रतिज्ञा करो, ठीक उसी समय पर उसे करना ही चाहिए, नहीं तो लोगों का विश्वास उठ जाता है।” – Swami Vivekananda
“मुर्ख लोगों का क्रोध उन्हीं का नाश करता है।” – Chanakya
“दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं एक वो जो कार्य करते हैं और दूसरे वो जो उसका श्रय लेते हैं।” – Narendra Modi