मिशन इंद्रधनुष अभियान | Mission Indradhanush Abhiyan in Hindi

321

मिशन इंद्रधनुष अभियान भारत सरकार के केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया एक मिशन है। इस अभियान का शुभारंभ 25 दिसम्बर सन् 2014 को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जे. पी. नड्डा द्वारा सुशासन दिवस के अवसर पर शुरू किया गया है।

इंद्रधनुष के सात रंगों के समान इस “मिशन इंद्रधनुष” का मुख्य उद्देश्य सन् 2020तक उन सभी बच्चों का टीकाकरण करना है, जिन्हें डिफ्थीरिया, काली खाँसी, टिटनस, पोलियो, तपेदिक, खसरा, हेपिटाइटिस-बी को रोकने के टीके नहीं लगे हैं। यह कार्यक्रम हर साल 5 प्रतिशत या उससे अधिक बच्चों के पूर्ण टीकाकरण में तेजी से वृद्धि के लिए चलाया जायेगा। इस योजना का उद्देश्य बच्चों में रोग-प्रतिरक्षण की प्रक्रिया को तेज गति देना है। मिशन इंद्रधनुष दो चरणों में चलाया जायेगा।

मिशन इंद्रधनुष का पहला चरणः

मिशन इंद्रधनुष के पहले चरण में भारत सरकार द्वारा पूरे भारत के 28 राज्यों के 201 जिलों में ऐसे बच्चों की पहचान की गई है, जोकि आंशिक रूप से प्रतिरक्षित और अप्रतिरक्षित हैं। मिशन इंद्रधनुष के पहले चरण की शुरूआत 7 अप्रैल 2015 को हुई। इस चरण को एक सप्ताह से अधिक समय तक जारी रखा गया था। इस चरण को चार भागों में बांटा गया। पहला भाग 7 अप्रैल को शुरू हुआ, इसके अलावा दूसरा, तीसरा और चौथा भाग मई, जून और जुलाई के महीने की 7 तारीख से शुरू किया गया जोकि एक-एक सप्ताह से अधिक समय के लिए आयोजित किया गया था। इस मिशन का पहला चरण अत्यधिक सफल रहा।

मिशन इंद्रधनुष के पहले चरण के मुख्य बिंदु निम्न प्रकार हैंः

  • मिशन इंद्रधनुष के इन चार चरणों के दौरान कुल 9.4 लाख सत्रों का आयोजन किया गया था।
  • बच्चों सहित गर्भवती महिलाओं को 2 करोड़ टीके लगाए गए थे।
  • 20 लाख से अधिक गर्भवती महिलाओं को टिटनस टाॅक्साइड के टीके लगाए गए थे।
  • इसमें 75.5 लाख बच्चों को टीके लगाए गए थे, जिनमें लगभग 20 लाख बच्चों का पूर्ण टीकाकरण किया गया था।
  • डायरिया/अतिसार/दस्त जैसी बीमारियों से बचाने के लिए सभी बच्चों के लिए 57 लाख से भी ज्यादा जिंक टेबलेट्स और 16 लाख से भी ज्यादा ओ. आर. एस. पैकेट्स मुफ्त में बाँटे गए।

मिशन इंद्रधनुष का दूसरा चरणः

मिशन इंद्रधनुष के दूसरे चरण में देश भर के 352 जिलों में पूर्ण टीकाकरण प्राप्त करना है। जिनमें से 279 मध्यम फोकस जिले हैं एवं बचे हुए 73 पहले चरणके हाई फोकस जिले हैं। मिशन इंद्रधनुष के दूसरे चरण के दूसरे चरण की शुरूआत 7 अक्टूबर 2015 को हुई। इस चरण को भी चार भागों में बांटा गया, जिनमें दूसरे भाग की शुरूआत 7 नवंबर 2015, तीसरे भाग की शुरूआत 7 दिसंबर 2015 तथा चौथे भाग की शुरूआत 7 जनवरी 2016 को की गई।