महबूबा मुफ्ती ने कहा- ‘जहर का प्याला पीया’

264

जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में PDP अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने आज कहा कि सन. 2016 में अपने पिता के निधन के बाद भाजपा के साथ गठबंधन मजबूरी में जारी रखकर ‘‘जहर का प्याला पीया था। महबूबा ने भाजपा के साथ गठबंधन इसलिए किया था, क्योंकि उनकी पार्टी के विधायकों और वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें बताया कि यदि वह भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने के सईद के निर्णय के खिलाफ गईं तो वह उनका ‘‘अनादर’’ होगा।

महबूबा ने कहा- “अल्लाह गवाह है कि मेरी राजनीति मेरे पिता सिद्धांतों से शुरू हुई और उन्हीं पर समाप्त होगी।” यही कारण है कि जब उन्होंने दुनिया छोड़ी, तो मैं सरकार बनाने के लिए तैयार नहीं थी। मुझे तीन महीने का समय लगा और मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि मैं मुख्यमंत्री बनूंगी। मैंने केवल जम्मू कश्मीर के लोगों को वर्तमान स्थिति से बाहर निकालने के अपने पिता के एजेंडे को पूरा करने के बारे में सोचा’’।

महबूबा मुफ्ती ने इशारों में कहा कि कोई PDP को तोड़ने की कोशिश न करें, वरना कई  सलाउद्दीन और पैदा होंगे। महबूबा मुफ्ती ने अपनी पार्टी के 19वें स्थापना दिवस के मौके पर कहा- ‘‘उस समय कार्यकर्ताओं, विधायकों और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने मुझसे कहा कि निर्णय मुफ्ती साहब द्वारा किया गया था और आपको यह जहर पीना होगा। यह आग अपने सिर पर लेकर चलना होगा। यदि आप ऐसा नहीं करेंगी तो यह मुफ्ती साहब के निर्णय का अनादर होगा।”

महबूबा ने आगे कहा कि जब उन्होंने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने की सहमति दी थी,  पार्टी नेताओं से कहा- कि वे मुख्यमंत्री के तौर पर किसी अन्य व्यक्ति को चुन लें।