Home बीमारी

बीमारी

मनुष्य के शरीर में किसी अंग का या शारीरिक क्रिया का सही तरह से काम नहीं करने की अवस्था को बीमारी कहते हैं। बीमारी स्वास्थ्य की खराब अवस्था होती है। बीमारी किसी विशिष्ट अंग को प्रभावित करती है। बीमारी का उपचार करने के लिए या उसके लक्षणों को कम करने के लिए औषधि का सेवन किया जाता है।

वायरल बुखार एक तरह का मौसमी बुखार होता है, जो वायरस के संक्रमण से होता है। वायरल बुखार का वायरस गले में सुप्तावस्था में रहता है। ठंडा पानी पीने या ठंडे वातावरण के संपर्क में आने से यह वायरस सक्रिय हो जाता है और हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को प्रभावित...
यूरिक एसिड के जोड़ों में जमा होने की वजह से जोड़ों में आने वाली सूजन को गठिया कहते हैं। इस रोग में जोड़ों में गाठें बन जाती हैं और शूल चुभने जैसी पीड़ा होती है। गठिया आर्थराइटिस का ही एक प्रकार है। मुख्य लक्षण जोड़ों में सूजन आना। हाथ और...
डेंगू एक वायरल रोग है जो संक्रमित मादा एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है। यह मच्छर ज्यादातर दिन में काटते हैं। डेंगू के लक्षण मच्छर के काटने के 5 से 15 दिनों के बाद दिखाई देने लगते हैं। यह एक जानलेवा रोग है इसलिए अगर आपको डेंगू...
चिकनगुनिया एक प्रकार का वायरल बुखार है, जो संक्रमित मादा एडीज एइजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। यह बुखार शरीर के जोड़ों को बुरी तरह से प्रभावित कर शरीर को काफी नुकसान पहुंचाता है। यह एक जानलेवा रोग है अगर इसका सही उपचार ना किया जाए तो जान...
किसी व्यक्ति के खून में अगर आयरन की कमी हो जाए तो उसका हीमोग्लोबिन भी कम हो जाता है। खून में आयरन और हीमोग्लोबिन की इस कमी को एनीमिया रोग कहा जाता है। यह रोग पुरषों की अपेक्षा महिलाओं में अधिक पाया जाता है। मुख्य लक्षण आखें, नाखून और त्वचा...
बवासीर एक असाधारण रोग है। इसे पाइल्स, हेमोरहोयड्स और मूलव्याधि के नाम से भी जाना जाता है। इस रोग में आंत के अंतिम भाग (गुदा) के भीतरी भाग में रक्त की धमनियों और शिराओं में सूजन आ जाती है। मल त्याग करने पर मल से रगड़ खाने की वजह...
टाइफाइड एक संक्रामक रोग है। इसको मोतीझरा और मियादी बुखार (आंत्र ज्वर) भी कहा जाता है। यह साल्मोनेला टाइफी (Salmonella typhi) नामक बैक्टीरिया के संक्रमण से होता है। इस बीमारी में तेज बुखार आता है, जो कम ज्यादा होता रहता है और कई दिनों तक बना रहता है। तेज बुखार के...
व्यक्ति के शरीर में किसी कारणवश या एक विशेष प्रकार के वायरस के संक्रमण से रक्त में बिलीरुबिन की मात्रा बढ़ जाए और शारीर का रंग पीला पड़ जाए तो उसे पीलिया रोग कहते हैं। इस रोग में बिलीरुबिन का खून से लीवर और लीवर से आतों की ओर...
मधुमेह एक गंभीर रोग है। इसे आम बोलचाल की भाषा में शुगर की बीमारी भी कहतें हैं। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति के रक्त में शर्करा (शुगर) का स्तर सामान्य से ज्यादा हो जाता है। इसको इस प्रकार से समझा जा सकता है; हम जो खाना खाते हैं, वह...
पतला दस्त आना या बिना मरोड के मल का बार-बार आना दस्त, अतिसार या डायरिया कहलाता है। यह एक आम रोग है जो बच्चों, जवानों और बूढों किसी को भी हो सकता है। एस रोग में शारीर में पानी और खनिज लवण की कमी हो जाती है, जिससे व्यक्ति...

खबरें छूट गयी हैं तो