Home बीमारी

बीमारी

मनुष्य के शरीर में किसी अंग का या शारीरिक क्रिया का सही तरह से काम नहीं करने की अवस्था को बीमारी कहते हैं। बीमारी स्वास्थ्य की खराब अवस्था होती है। बीमारी किसी विशिष्ट अंग को प्रभावित करती है। बीमारी का उपचार करने के लिए या उसके लक्षणों को कम करने के लिए औषधि का सेवन किया जाता है।

टी.बी. (Tuberculosis) एक संक्रामक बीमारी है जो माय्कोबेक्टेरियम ट्यूबरक्युलोसिस नामक बैक्टीरिया से होती है। इसे तपेदिक, क्षय रोग और यक्ष्मा के नाम से भी जाना जाता है। इसे मुख्यतः फेफड़ों को रोग माना जाता है पर यह शरीर के दूसरे हिस्सों में भी फैल सकता है जैसे कि मुंह, लिवर, किडनी,...
हमारे पेट में दायीं तरफ लीवर के निचे एक छोटी थैली होती है। इस थैली को पित्ताशय (Gall bladder) कहा जाता है। इस थैली में लीवर में निर्मित होने वाले पित्त (Bile) का संग्रह होता है। पित्त में यदि कोलेस्ट्रॉल, बिलीरुबिन और पित्त लवणों की मात्रा अधिक हो जाए तो यह तत्व पित्ताशय...
मोतियाबिंद आंखों में होने वाली बीमारी है। इस बीमारी में आंखों में मौजूद प्राक्रतिक लेंस पर सफेद रंग का धब्बा बन जाता है जिससे व्यक्ति को धुंधला या अस्पष्ट दिखाई देता है। यह बीमारी ज्यादातर बुजुर्गों में पायी जाती है। यह एक आंख से दूसरी आंख में भी फैल...
स्वाइन फ्लू या H1N1 इन्फ्लुएंजा श्वसन तंत्र से जुड़ी बीमारी है। यह बीमारी आमतौर पर इन्फ्लुएंजा वायरस के इंफ्लुएंजा A (H1N1) प्रकार या स्ट्रेन के कारण होती है। यह वायरस सीधे श्वास नाली को प्रभावित करता है। इसके शुरूआती लक्षण आम फ्लू की तरह ही होते हैं। इन्फ्लुएंजा वायरस आमतौर पर सूअर में...
भोजन को पचाने के लिए हमारे पेट में गैस्ट्रिक एसिड स्रावित होता है। यह एसिड भोजन को पचाने में मदद करता है। यह एसिड अगर सामान्य से अधिक मात्रा में स्रावित या निर्मित होने लगे तो सीने में जलन होने लगती है जिसे एसिडिटी कहते हैं। चिकित्सकीय भाषा में...
टाइफाइड एक संक्रामक रोग है। इसको मोतीझरा और मियादी बुखार (आंत्र ज्वर) भी कहा जाता है। यह साल्मोनेला टाइफी (Salmonella typhi) नामक बैक्टीरिया के संक्रमण से होता है। इस बीमारी में तेज बुखार आता है, जो कम ज्यादा होता रहता है और कई दिनों तक बना रहता है। तेज बुखार के...
बवासीर एक असाधारण रोग है। इसे पाइल्स, हेमोरहोयड्स और मूलव्याधि के नाम से भी जाना जाता है। इस रोग में आंत के अंतिम भाग (गुदा) के भीतरी भाग में रक्त की धमनियों और शिराओं में सूजन आ जाती है। मल त्याग करने पर मल से रगड़ खाने की वजह...
चिकनगुनिया एक प्रकार का वायरल बुखार है, जो संक्रमित मादा एडीज एइजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। यह बुखार शरीर के जोड़ों को बुरी तरह से प्रभावित कर शरीर को काफी नुकसान पहुंचाता है। यह एक जानलेवा रोग है अगर इसका सही उपचार ना किया जाए तो जान...
मधुमेह एक गंभीर रोग है। इसे आम बोलचाल की भाषा में शुगर की बीमारी भी कहतें हैं। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति के रक्त में शर्करा (शुगर) का स्तर सामान्य से ज्यादा हो जाता है। इसको इस प्रकार से समझा जा सकता है; हम जो खाना खाते हैं, वह...
यूरिक एसिड के जोड़ों में जमा होने की वजह से जोड़ों में आने वाली सूजन को गठिया कहते हैं। इस रोग में जोड़ों में गाठें बन जाती हैं और शूल चुभने जैसी पीड़ा होती है। गठिया आर्थराइटिस का ही एक प्रकार है। मुख्य लक्षण जोड़ों में सूजन आना। हाथ और...

स्पेशल स्टोरी

खबरें छूट गयी हैं तो