कोलकाता में 5 साल में तीसरा बड़ा पुल हादसा

391

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में बड़ा हादसा हुआ है। कोलकाता के दक्षिणी क्षेत्र में डायमंड हार्बर रोड पर स्थित 50 साल पुराने पुल का एक हिस्सा मंगलवार शाम को गिर जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक इस हादसे में तीन महिलाओं समेत 21 अन्य लोगों के घायल होने जानकारी मिली है, जबकि कई वाहन नीचे भी दब गये हैं। बुधवार को भी हादसे की जगह राहत बचाव कार्य जारी है। इस हादसे को लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार आमने-सामने हैं।

कोलकाता में कहां हुआ ये हादसा…?

कोलकाता में भीड़-भाड़ वाले अलीपुर इलाके में 50 साल पुराना यह पुल व्यस्त समय के दौरान करीब पौने पांच बजे ढह गया और रेलवे लाइन पर गिरा था। यह पुल माजेरहाट रेलवे स्टेशन के ऊपर से गुजरता है और सिटी सेंटर को घने आबादी वाले क्षेत्र बेहाला, अन्य दक्षिणी उपनगरीय क्षेत्रों और समीप के दक्षिण 24 परगना जिले से जोड़ता है।

इस हादसे में किसकी मौत हुई…?

पुलिस के मुताबिक, मृतक की पहचान सौमेन बाग के रूप में हुई है। वह ठाकुरपुकुड़ का रहने वाला था, वह कुछ किताबें खरीदने के बाद कॉलेज स्ट्रीट से घर लौट रहा था। इसी दौरान यह दुर्घटना हुई। वहीं, घायलों को एसएसकेएम और सीएमआरआई अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

तीसरा बड़ा हादसा

इस हादसे में एक मिनी बस, चार कारें और चार मोटरसाइकिलें शाम तक मलबे में दबी नजर आई। एक चश्मदीद के अनुसार मलबे के नीचे एक मिनी बस और एक निजी कार में कुछ लोग फंसे हुए थे। पिछले साढ़े पांच साल में कोलकाता में हुआ ये तीसरा पुल हादसा है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दार्जिलिंग में कहा कि बचाव कार्य करीब-करीब पूरा हो चूका है और अब केवल सीमेंट की सिल्लियों को काटकर यह देखा जाना है कि वहां कोई फंसा तो नहीं है। उन्होंने कहा कि पुल के नीचे एक झोपड़ी है, जिसमें मेट्रो रेल निर्माण कार्य में लगे हुए कुछ श्रमिक रहा करते थे। ममता बनर्जी ने कहा- “अगर ज्यादा लोग दुर्घटना के समय वहां होते, तो यह और दु:खद घटना हो सकती थी।” उन्होंने कहा कि हजारों लोग इलाके से गुजरते हैं और सरकार को हादसे की जांच करनी होगी।