खौफ में उत्तर भारत के लोग, गुजरात से 20 हजार लोगों का हुआ पलायन

585

गुजरात राज्य में बीते कुछ दिनों में उत्तर भारतीय लोगों पर हुए हमले ने हर किसी को हैरान कर दिया है। उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग इन हमलों में निशाने पर हैं। इन दोनों प्रदेशों के लोगों को डर के मारे गुजरात राज्य छोड़ने पर मजबूर होना पड़ रहा है।

गुजरात राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने दावा किया था कि पिछले 48 घंटों में कोई भी घटना नहीं हुई है, लेकिन उनका ये दावा फेल होता हुआ नजर आया, जब ये खबर आई कि अहमदाबाद में करीब 47 उत्तर भारतीयों को बंधक बना लिया गया है। गुजरात में रहने वाले प्रवासियों पर किए गए हमलों को लेकर पुलिस ने 35 प्राथमिकियां दर्ज की हैं और लगभग 450 लोगों को हिरासत में लिया है। उत्तर भारतीय विकास परिषद के अध्यक्ष महेश सिंह कुशवाहा ने दावा किया है कि पिछले एक हफ्ते में गुजरात से करीब 20,000 उत्तर भारतीयों ने गुजरात छोड़ा है। पलायन को लेकर बिहार के खगरिया में सांसद पप्पू यादव ने मार्च भी निकाला और इन हमलों की निंदा की।

गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 माह की बच्ची से बलात्कार की घटना के बाद गैर-गुजरातियों पर हमले शुरू हो गए, जिसके बाद कई क्षेत्रों से यूपी-बिहार के लोगों ने पलायन शुरू कर दिया है। इन हमलों को देखते हुए UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुजरात CM से बात की और सुरक्षा का हाल-चाल लिया। दोनों का बयान है कि गुजरात CM ने उन्हें इस तरह की घटनाओं पर कड़े एक्शन लेने का भरोसा दिया है। इन हमलों के कारण गुजरात में रह रहे उत्तर भारतीयों में अब भी खौफ का माहौल है। सोमवार को भी गुजरात से उत्तर भारत की ओर आने वाली ट्रेनें भरी हुई थीं। वडोदरा में जब कुछ उत्तर भारतीय वापस आ रहे थे तो वहां लोगों ने उनका नाम-पता पूछ कर उनके साथ मारपीट की गई।