जिन्सन जॉनसन की जीवनी | Jinson Johnson Biography in Hindi

64

परिचय

भारत के ‘जिन्सन जॉनसन’ मध्यम दूरी के धावक (एथलीट) हैं, जो 800 मीटर और 1500 मीटर की दौड में माहिर हैं। जिन्सन जॉनसन ने 2016 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में 800 मीटर की रेस में भाग लिया था। 2018 में राष्ट्रमंडल खेलों में 23 वर्षीय बहादुर प्रसाद के रिकॉर्ड को तोड़कर 1500 मीटर की दौड़ में एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया। अब जिन्सन जॉनसन एशियाई खेलों, जकार्ता, इंडोनेशिया में 800 मीटर ट्रैक रेस में एक ‘सिल्वर मेडल’ जीतने का श्रेय भी रखते हैं। इस रेस में ‘गोल्ड मेडल’ जितने वाले खिलाडी मनजीत सिंह है। जिन्सन जॉनसन ने पुरुषों के 1500 मीटर फाइनल में 3: 44.72 के समय के साथ ‘गोल्ड मेडल’ भी जीता है।

शुरुआती जीवन

जिन्सन जॉनसन का जन्म केरल के कोझिकोड जिले के चक्किट्टापारा शहर में 15 मार्च 1991 को हुआ था। उन्होंने कुलथुवायाल में ‘सेंट जॉर्ज हाई स्कूल’ में अपनी स्कूली शिक्षा और कोट्टायम के ‘बेसिलियस कॉलेज’ में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की। 2009 में भारतीय सेना में शामिल होने से पहले उन्होंने कोट्टायम में ‘केरल स्पोर्ट्स काउंसिल’ के स्पोर्ट्स हॉस्टल में ट्रेनिंग ली थी। जुलाई 2015 तक, जिन्सन जॉनसन की हैदराबाद में जूनियर कमीशन अधिकारी (JCO) के रूप में नियुक्ति की गई।

करियर

जिन्सन जॉनसन ने वुहान में आयोजित 2015 एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के 800 मीटर की दौड में ‘सिल्वर मेडल’ जीता। जिन्सन जॉनसन ने उसी साल थाईलैंड में ‘एशियाई ग्रैंड प्रिक्स’ में 3 ‘गोल्ड मेडल’ भी जीते थे। जिन्सन जॉनसन ने 2016 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक जुलाई में  बैंगलोर में 1: 45.98 का अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड बनाते हुए 800 मीटर की दौड के लिए क्वालीफाई किया।

1976 के ओलिंपिक गेम्स में भारत के एक खिलाडी श्रीराम सिंह ने 800 मीटर का ‘नेशनल रिकॉर्ड’ बनाया था। श्रीराम सिंह के रिकॉर्ड को तोड़ने में 42 वर्ष का लंबा समय लगा।

जून 2018 में जिन्सन जॉनसन ने 800 मीटर में श्रीराम सिंह के लंबे समय तक कायम ‘नेशनल रिकॉर्ड’ को तोड़ दिया, जब उन्होंने ‘इंटर स्टेट सीनियर एथलेटिक्स चैम्पियनशिप’ में 1: 45.65 सेकेंड में रेस पूरी की, उस समय श्रीराम सिंह का रिकॉर्ड 1 मिनट 45. 77 सेकंड का था।

2018 एशियाई खेलों में जिन्सन जॉनसन ने 1500 मीटर की दौड में ‘गोल्ड मेडल’ जीता और 800 मीटर में उन्होंने ‘सिल्वर मेडल’ जीता।