इस्कॉन मंदिर | Iskcon Mandir in Hindi

804

इस्कॉन मंदिर एक प्रसिद्ध हिन्दू मंदिर है, जो श्री कृष्ण और उनके बड़े भाई बलराम को समर्पित है। इस्कॉन मंदिर को श्री कृष्ण बलराम मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर उत्तरप्रदेश राज्य के मथुरा जिले के वृन्दावन में भक्तिवेदांत स्वामी मार्ग, रमन रेती में स्थित है। सन. 1975 में इस्कॉन मंदिर की स्थापना इस्कॉन संस्था के संस्थापक श्री स्वामी प्रभुपद द्वारा व्यक्तिगत रूप से की गयी थी।

इस मंदिर के बारे में ऐसा माना जाता है कि यह मंदिर उसी स्थान पर बनाया गया है, जहाँ पर श्री कृष्ण 5000 वर्ष पहले अन्य बच्चों के साथ में खेला करते थे तथा अपने भाई बलराम के साथ में यमुना नदी के पास रमन रेती पर अपनी गायों के समूह के साथ आया करते थे।

इस्कॉन मंदिर को बनाने में सफेद संगमरमर का प्रयोग किया गया है। मंदिर की दीवारों पर सुंदर नक्काशी और पेंटिग भी की गई है, जिसमें श्री कृष्ण के जीवन से जुड़ी घटनाओं को विस्तार से बताया गया है। वृन्दावन में श्री कृष्ण के अनेक मंदिर हैं, लेकिन इस्कॉन मंदिर सभी मंदिरों से अलग है। इस मंदिर में भक्त पूजा करने आते हैं और साथ में पवित्र श्रीमद् भागवत गीता के पाठ का जप भी करते हैं। इस्कॉन मंदिर में श्रद्धालु दर्शन करने के लिए बहुत दूर-दूर से आते हैं, विशेषकर विदेशों से भी पर्यटक यहाँ दर्शन के लिए आते हैं। भारतीयों से ज्यादा विदेशी पर्यटक  यहाँ अध्यात्म और ज्ञान की प्राप्ति के लिए आते हैं। अंग्रेजी भाषा में भी यहाँ वैदिक ज्ञान के बारे में बताया जाता है।

मंदिर का वातावरण बहुत ही आध्यात्मिक और भक्तिमय है, जिसमें भक्तों को आनंद की प्राप्ति होती है। इस्कॉन मंदिर में आयोजित श्री कृष्ण की आरती (प्रार्थना) बहुत लोकप्रिय है। इस  मंदिर का प्रसिद्ध गीत ‘हरे कृष्ण हरे कृष्ण’ ‘कृष्ण कृष्ण हरे हरे’, ‘हरे राम हरे राम’ ‘राम राम हरे हरे’ आरती के दौरान पुजारियों और भक्तों द्वारा सामूहिक रूप से गाया जाता है। यहाँ पर पारंपरिक वस्त्र को आज भी धारण किया जाता है। मंदिर परिसर के अन्दर धार्मिक पुस्तकें, गहने, भजन कोथरी और पारंपरिक कपड़े भी दुकानों पर बेचे जाते हैं।

इस्कॉन मंदिर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, राधाष्टमी, दीपावली और होली ये सभी त्यौहार बड़ी धूम-धाम के साथ मनाए जाते हैं। इस्कॉन मंदिर में श्री कृष्ण आरती का समय सुबह 5:00 बजे से  5:30 तक है और शाम की आरती का समय 5:00 बजे से शाम 8:00 बजे तक है। मंदिर के अंदर प्रवेश नि: शुल्क है। मंदिर परिसर में फोटोग्राफी की अनुमति है।

इस्कॉन मंदिर में तीन वेदियाँ हैं। इस्कॉन मंदिर के संस्थापक श्री स्वामी प्रभुपाद थे, जिनकी मृत्यु सन. 1977 में हो गई थी।  मंदिर परिसर में उनका स्मारक बना हुआ है।

मंदिरों की तालिका-

क्र. सं. मंदिर का नाम मंदिर का स्थान देवी / देवता का नाम
1 बांके बिहारी मंदिर मथुरा-वृन्दावन, उत्तर प्रदेश बांके बिहारी (श्री कृष्ण)
2 भोजेश्वर मंदिर भोपाल, मध्यप्रदेश भगवान शिव
3 दाऊजी मंदिर बलदेव, मथुरा, उत्तर प्रदेश भगवान बलराम
4 द्वारकाधीश मंदिर मथुरा, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण
5 गोवर्धन पर्वत गोवर्धन, मथुरा, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण
6 इस्कॉन मंदिर मथुरा-वृन्दावन, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण, भगवान बलराम
7 काल भैरव मंदिर भैरवगढ़, उज्जैन, मध्यप्रदेश भगवान काल भैरव
8 केदारनाथ मंदिर रुद्रप्रयाग, उत्तराखण्ड भगवान शिव
9 महाकालेश्वर मंदिर जयसिंहपुरा, उज्जैन, मध्यप्रदेश भगवान शिव
10 नन्द जी मंदिर नन्दगाँव, मथुरा नन्द बाबा
11 निधिवन मंदिर मथुरा-वृन्दावन, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण, राधा रानी
12 ओमकारेश्वर मंदिर खंडवा, मध्यप्रदेश भगवान शिव
13 प्रेम मंदिर मथुरा-वृन्दावन, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण, राधा रानी
14 राधा रानी मंदिर बरसाना, मथुरा, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण, राधा रानी
15 श्री कृष्ण जन्मभूमि मंदिर मथुरा, उत्तर प्रदेश श्री कृष्ण, राधा रानी
16 बृजेश्वरी देवी मंदिर नगरकोट, कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश माँ ब्रजेश्वरी
17 चामुंडा देवी मंदिर कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश माँ काली
18 चिंतपूर्णी मंदिर ऊना, हिमाचल प्रदेश चिंतपूर्णी देवी
19 ज्वालामुखी मंदिर कांगड़ा, हिमाचल प्रदेश ज्वाला देवी
20 नैना देवी मंदिर बिलासपुर, हिमाचल प्रदेश नैना देवी
21 बाबा बालकनाथ मंदिर हमीरपुर, हिमाचल प्रदेश बाबा बालकनाथ
22 बिजली महादेव मंदिर कुल्लू, हिमाचल प्रदेश भगवान शिव
23 साईं बाबा मंदिर शिर्डी, महाराष्ट्र साईं बाबा
24 कैला देवी मंदिर करौली, राजस्थान कैला देवी (माँ दुर्गा की अवतार)
25 ब्रह्माजी का मंदिर पुष्कर, राजस्थान ब्रह्माजी
26 बिरला मंदिर दिल्ली भगवान विष्णु, माता लक्ष्मी देवी
27 वैष्णों देवी मंदिर कटरा, जम्मू माता वैष्णो देवी
28 तिरुपति बालाजी मंदिर तिरुपति, आंध्रप्रदेश भगवान विष्णु
29 सोमनाथ मंदिर वेरावल, गुजरात भगवान शिव
30 सिद्धिविनायक मंदिर मुंबई, महाराष्ट्र श्री गणेश
31 पद्मनाभस्वामी मंदिर (त्रिवेन्द्रम) तिरुवनंतपुरम्, केरल भगवान विष्णु
32 मीनाक्षी अम्मन मंदिर मदुरै या मदुरई, तमिलनाडु माता पार्वती देवी
33 काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी, उत्तर प्रदेश भगवान शिव
34 जगन्नाथ मंदिर पुरी, उड़ीसा श्री कृष्ण, बलराम और सुभद्रा
35 गुरुवायुर मंदिर गुरुवायुर, त्रिशूर, केरल श्री कृष्ण
36 कन्याकुमारी मंदिर कन्याकुमारी, तमिलनाडु माँ भगवती
37 अक्षरधाम मंदिर दिल्ली भगवान विष्णु