परिचय

इमरान ख़ान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री तथा भूतपूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर हैं। इमरान ख़ान ने 2018 के पाकिस्तान में हुए आम चुनाव में बहुमत से जीत हासिल की है। उन्होंने 2013 में पाकिस्तान के आम चुनावों में पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में सीट जीती और 2018 तक पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के सदस्य बने रहे।

इमरान ख़ान ने 20वीं सदी के उत्तरार्द्ध के 2 दशकों में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला और 1990 के दशक के बीच में राजनीतिज्ञ बन गए। वर्तमान समय (2018) में, इमरान ख़ान राजनीति के आलावा एक धर्मांर्थ कार्यकर्ता और साथ एक  क्रिकेट कमेंटेटर भी हैं।

इमरान ख़ान साल 1971-1992 तक पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में खेले, फिर 1982 में पाकिस्तान की टीम के कई बार कप्तान बने और 1992 तक वे कप्तान रहे। 1987 में जब ‘विश्व कप’ का अंत हुआ तब इमरान ख़ान ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया और फिर 1988 में उन्हें दोबारा टीम में शामिल होने के लिए बुलाया गया।

इमरान ख़ान जब 39 वर्ष के थे, तब उन्होंने पाकिस्तान की टीम का नेतृत्व करते हुए पाकिस्तान को प्रथम और एकमात्र विश्व कप दिलाया था। इमरान ख़ान  ने अपने नाम पर टेस्ट क्रिकेट में 3,807 रन और 362 विकेट का रिकॉर्ड बनाया है। इस रिकॉर्ड की वजह से ही वे ‘आल राउंडर्स ट्रिपल’ हासिल करने वाले 6 विश्व क्रिकेटरों की श्रेणी में शामिल हैं।

1996 में इमरान ख़ान ने एक छोटी और सीमांत राजनीतिक पार्टी की स्थापना की, जिसका नाम उन्होंने ‘पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ’ रखा। इमरान ख़ान ‘पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ’ के अध्यक्ष बने और उस पार्टी से वे संसद के लिए चुने गए केवल एकमात्र सदस्य हैं।

इमरान ख़ान ने दुनिया भर से चंदा इकट्ठा कर 1996 में ‘शौकत ख़ानम मेमोरियल कैंसर अस्पताल’ और अनुसंधान केंद्र तथा साल 2008 में ‘मियांवाली नमल कॉलेज’ की स्थापना में मदद भी की।

जीवन व शिक्षा

इमरान खान का जन्म 5 अक्टूबर 1952 को हुआ। इमरान खान शौकत ख़ानम और इकरमुल्लाह खान नियाज़ी के बेटे है। अपनी युवा अवस्था में इमरान खान एक शांत और शर्मीली लड़के थे, उनका परिवार एक मध्यम वर्गीय परिवार था, जहाँ वे अपनी 4 बहनों के साथ रहते थे।

पंजाब में बसे इमरान ख़ान के पिता, मियांवाली के पश्तून नियाज़ी शेरमनखेल जनजाति के वंशज थे। उनकी माता एक ऐसे परिवार से हैं, जिनके परिवार में  जावेद बुर्की और माजिद ख़ान जैसे सफल क्रिकेटर शामिल हैं। इमरान खान ने लाहौर में ‘कैथेड्रल स्कूल’ और ऐचीसन कॉलेज’ से शिक्षा ली और फिर वे इंग्लैंड गए और वहां ‘रॉयल ग्रामर स्कूल’ वर्सेस्टर से शिक्षा ग्रहण की, जहाँ  क्रिकेट में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा था।

1972 में, उन्होंने दर्शन, राजनीति और अर्थशास्त्र की पढाई करने के लिए केबल कॉलेज, ऑक्सफोर्ड में दाखिला लिया, वहाँ वे राजनीति में दूसरी श्रेणी और अर्थशास्त्र में तीसरी श्रेणी से पास होकर स्नातक हुए।

शादी

इमरान खान की शादी 16 मई, 1995 को अंग्रेज़ उच्च-वर्गीय, रईस जेमिमा गोल्डस्मिथ से हुई, जिसने  पेरिस में 2 मिनट के इस्लामी समारोह में अपना धर्म बदल लिया। 1 महीने बाद 21 जून को  उन्होंने फिर से इंग्लैंड में रिचमंड रजिस्टर कार्यालय में एक नागरिक समारोह में शादी कर ली, बाद में उन्होंने एक स्वागत समारोह का आयोजन गोल्डस्मिथ के सरी में स्थित एक घर में  किया गया। उसके बाद इमरान खान के दो बेटे हुए- 18 नवम्बर 1996 को सुलेमान ईसा और 10 अप्रैल 1999 को कासिम का जन्म हुआ।

इमरान खान ने शादी के समय समझौता किया था के वे साल के 4 महीने इंग्लैंड में व्यतीत करेंगे, और वे ऐसा करते भी थे। 22 जून, 2004 को खबर आई कि इमरान ख़ान दंपत्ति ने तलाक़ ले लिया है, क्योंकि जेमिमा के लिए पाकिस्तानी जीवन को अपनाना आसन नहीं था।

अब इमरान खान बनी गाला में रहते हैं, जो इस्लामाबाद में है। वहाँ उन्होंने अपने लंदन के फ्लैट को बेचकर मिले धन से एक फ़ार्म-हाउस बनवाया है। इमरान खान ने एक क्रिकेट मैदान का रख-रखाव भी किया है। छुट्टियों के दौरान उनके पास आने वाले दोनों बेटों के लिए, वे फलों के वृक्ष और गेहूं का उत्पादन भी करते हैं, और गायों को भी पालते हैं। खबरों के अनुसार इमरान ख़ान, कथित रूप से उनकी नाजायज़ बेटी टीरियन जेड ख़ान-व्हाइट के साथ भी नियमित संपर्क में रहते हैं, जिसे उन्होंने सार्वजनिक रूप से कभी स्वीकार नहीं किया।