इडली कैसे बनाते हैं ( Idli kese banate hai) –

इडली दक्षिण भारत की सबसे मशहूर डिश मानी जाती है । इडली कई तरीके से बनाई जाती है जैसे चावल इडली, रागी इडली, ओट्स इडली, रवा इडली । इडली बनाने का सबका एक अलग तरीका होता है क्योंकि सबकी पसंद अलग अलग होती । पर दक्षिण भारत की इडली सबसे ज्यादा मशहूर होती है क्योंकि उनके पारंपरिक तरीके से बनाई गई इडली ने ही अपनी अलग प्रसिद्धि प्राप्त की है  । आज हम आपको इडली बनाने की एक रेसिपी बताने जा रहे हैं, उम्मीद है आप सभी को यह रेसिपी जरूर पसंद आएगी । तो आइए जानते हैं इडली बनाने की रेसिपी –

सामग्री –

1 कप चावल (रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाले)

1 कप बासमती चावल 

1/2 कप उड़द दाल (धुली हुई) 

1/4 कप पोहा 

1/2 Tablespoon मेथी दाना 

नमक स्वादानुसार 

तेल इडली के सांचे में लगाने के लिए 

विधि – 

* सबसे पहले हम उड़द दाल और मैरी दानों को साथ में मिलाकर अच्छी तरह 2-3 बार पानी से धो लेंगे । 

* इसके बाद हम धुली हुई उड़द दाल और मेथी दाने के साथ पोहे को 4-5 घंटे के लिए पानी में डालकर भीगने के लिए रख देंगे । और जब ये तीनों अच्छे से भीग जाएंगे तो ये फूलकर आकार में दोगुना हो जाएंगे । 

* इसके बाद हम दोनों चावलों को आपस में मिलाकर अच्छे से धो लेते हैं और इन्हें भी पानी में डालकर 4-5 घंटे के लिए भीगने के लिए रख देते हैं । 

* अब भीगी हुई उड़द दाल से अतिरिक्त पानी को निकाल देते हैं और एक मिक्सर ग्राइंडर में डालकर अच्छी तरह से पीस लेते हैं । 

* पिसी हुई दाल में 1/2 कप पानी डालकर बारीक होने तक पीसें और जरूरत के हिसाब से पानी डालकर एक हल्का बेटर (घोल) तैयार कर लें । दाल पीसते समय यह ध्यान रखें की दाल का बेटर ना एकदम पतला हो और ना ही एकदम गाढ़ा हो । 

* इसके बाद भिगोये हुए चावलों में से अतिरिक्त पानी को निकाल लें । और एक मिक्सर ग्राइंडर में थोड़े थोड़े चावल डालकर अच्छी तरह से पीस लें । चावलों को एकदम चिकना नहीं पीसना है हल्का दरदरा ही पीसना है ‌।

* अब पिसी हुई उड़द दाल और पिसे हुए चावलों को एक साथ मिला लें और उसमें स्वादानुसार नमक डालकर फिर से अच्छे से मिला लें । और ध्यान रखें कि इडली का घोल ना एकदम पतला हो और ना ही एकदम गाढ़ा हो । 

* अब घोल को ढक्कर एक जगह पर 8-10 घंटे के लिए रख दें । जिससे की घोल का खमीर उठ जाए । 

* खमीर उठने के बाद घोल की मात्रा दोगुनी हो जाती है । 

* अब एक चम्मच की सहायता से घोल को हल्के हाथ से चलाये पर ज्यादा नहीं चलाना है घोल को वरना घोल में जितने भी बुलबुले हैं सब फूट जायेंगे । और इडली मुलायम और स्पंजी नहीं बनेगी । 

* अब एक स्टीमर लें और उसमें 1-2 गिलास पानी डालकर स्टीमर को गैस पर रखकर गैस चालू करें और पानी को गर्म होने दें । 

* इसके बाद इडली के सांचों में हल्का सा तेल लगाकर उसमें घोल डालें और सांचों को स्टीमर के अंदर पकने के लिए रख दें ‌। और 10 मिनट के लिए पकने दें । 10 मिनट बाद एक टूथपिक या चाकू की मदद‌ से यह जांचें की इडली पकी है या नहीं । 

* इडली के पक जाने के बाद इडली के सांचों को स्टीमर से बाहर निकालें और और 10 मिनट बाद किसी भी चम्मच या चाकू की मदद से इडली को सांचे से बाहर निकाले । इसी तरह बाकी इडलियां भी तैयार कर लें ।

* बनी हुई इडलियों को एक बड़े बाउल में निकालकर रखें । और उन्हें ढक दें ताकि परोसते समय इडलियां गर्म रहें। तैयार इडलियों को वेजिटेबल सांभर और नारियल की चटनी के साथ सर्व करें । 

ध्यान रखने योग्य बातें –

* एकदम सफ़ेद इडली बनाने के लिए आपको चावल को बहुत अच्छी तरह से धोना होगा तभी आपकी इडली सफेद बनेगी । 

* अगर इडली का घोल में अच्छी तरह से खमीर ना उठे तो उसमें एक चुटकी बेकिंग सोडा डाल दें और घोल को अच्छी तरह से मिला लें । 

* इडली को अच्छी तरह से सांचे से निकालने के लिए सांचे में घोल को डालने से पहले सांचे में अच्छी तरह से तेल लगाकर चिकना कर लें ‌ । और इडली पकने के बाद कुछ मिनट ठंडा करके ही इटली को सांचे से बाहर निकाले । 

* यदि आपके पास इडली बच जाए तो इडली के छोटे छोटे टुकड़े कर लें । और एक कढ़ाई लें और उसे गैस पर रखकर गैस चालू कर । अब कढ़ाई में तेल डालें और तेल गरम करें । और उसमें जीरा, करी पत्ता डालकर तड़का बनाएं । और इसमें इडली डालें और अच्छी तरह से मिलाएं और 3-4 मिनट के लिए पकने दें । और 3-4 मिनट बाद गैस बंद कर दें । और तड़का इडली को एक बाउल में निकाल दें और इसके ऊपर से बारीक कटे हरे धनिया से सजाकर गरमागरम चाय के साथ परोस सकते हैं या इस तड़का इडली को आप लंचबॉक्स में भी रख सकते हैं ।