समरूपी भिन्नार्थक शब्द | Samrupi Bhinaarthak Shabd in Hindi

वे शब्द जो पढने और सुनने में समान प्रतीत होते हैं, पर इनके अर्थो में पर्याप्त भिन्नता होती है, उन्हें समरूपी भिन्नार्थक शब्द कहते हैं। पहला शब्दअर्थदूसरा शब्दअर्थअर्कसूर्यअर्घपूजा का जलआकरखानआकारआकृति, शक्लअंगनास्त्रीअँगनाआँगनअगमदुर्लभ, अगम्यआगमप्राप्ति,...

संज्ञा | Sangya | Noun in Hindi

संज्ञा – किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान या भाव के नाम को संज्ञा कहते हैं। उदाहरण – मथुरा, कानपुर, जल, राधा, लक्ष्मीबाई, नदी आदि। संज्ञा के प्रकार – संज्ञा के प्रकार निम्नलिखित हैं- 1) व्यक्तिवाचक संज्ञा – जब एक ही व्यक्ति या वस्तु का...

लिंग | Ling | Gender in Hindi

लिंग – पुरूष या स्त्री जाति का ज्ञान कराने वाले शब्दों को लिंग कहते हैं। लिंग दो प्रकार के होते हैं। 1) पुल्लिंग – पुरूष जाति का ज्ञान कराने वाले शब्दों को पुल्लिंग कहते हैं। उदाहरण – मोर, बालक, पुरूष, पिता, मुर्गा, शिष्य, सेठ इत्यादि।...

वचन | Vachan | Promise in Hindi

वचन – शब्द के जिस रूप से एक या अनेक होने का पता चलता है, उसे वचन कहते हैं। उदाहरण -लड़का-लड़के, कुर्सी-कुर्सियाँ, लड़की-लड़कियाँ इत्यादि। वचन के प्रकार – वचन दो प्रकार के होते हैं- 1) एकवचन – शब्द के जिस रूप से एक वस्तु, व्यक्ति या एक प्राणी के होने का...

कारक | Karak | Factor in Hindi

कारक – शब्द का दूसरे शब्दों से सम्बन्ध बताने वाला रूप कारक कहलाता है। उदाहरण – राम ने खाना खाया अर्थात इसमें राम का सम्बन्ध खाना क्रिया से (कर्ता) है। कारक के प्रकार – कारक आठ प्रकार के होते हैं- 1) कर्ता कारक – क्रिया करने...

सर्वनाम | Sarvnaam | Pronoun in Hindi

सर्वनाम – जिन शब्दों का संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किया जाता है, उन्हें सर्वनाम कहते हैं। उदाहरण – वह, मैं, तुम, आप, वे, यह, ये, कौन, कोई इत्यादि। सर्वनाम के प्रकार – सर्वनाम छः प्रकार के होते हैं- पुरूषवाचक सर्वनामनिश्चयवाचक...

विशेषण | Visheshan | Adjective in Hindi

विशेषण – संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताने वाले शब्दों को विशेषण कहा जाता है। उदाहरण – अन्धा व्यक्ति, परिश्रमी राम इत्यादि। विशेषण के प्रकार – विशेषण चार प्रकार के होते हैं- 1) गुणवाचक विशेषण – जब संज्ञा के गुण, दशा, रंग, स्वभाव इत्यादि का...

क्रिया | Kriya | Verb in Hindi

क्रिया – जिस शब्द से किसी कार्य के होने, करने या स्थिति का ज्ञान होता है, उसे क्रिया कहते हैं। उदाहरण – रोना, हँसना, खाना, पीना, पढ़ना, गाना इत्यादि। क्रिया के प्रकार – क्रिया पाँच प्रकार की होती है- 1) अर्कमक क्रिया – जिस क्रिया का प्रभाव किसी...

काल | Kall | Tense in Hindi

काल – जिससे समय का ज्ञान होता है उसे काल कहते हैं। काल तीन प्रकार के होते है। 1) वर्तमान काल – वर्तमान समय में किसी क्रिया के होने की जानकारी मिले, उसे वर्तमान काल कहते हैं। जैसे – दीपक पढ़ रहा है, राधा खाना बना रही है, बालक मैदान में खेलते हैं...

वाच्य | Vachya | Voice in Hindi

क्रिया के जिस रूप से यह जाना जाए कि वाक्य में क्रिया का मुख्य विषय कर्ता, कर्म या भाव है, उसे वाच्य कहते हैं। वाच्य के प्रकार – वाच्य के तीन प्रकार हैं- 1) कर्तृवाच्य इसमें क्रिया प्रधान होती है। अतः इसका सीधा सम्बन्ध कर्ता से होता है। लिंग और वचन भी कर्ता के...

अव्यय | Avyay | Indeclinable in Hindi

जिन शब्दों के रूप में काल, लिंग, वचन के बदलने पर कोई परिवर्तन नहीं होता, उन्हें अव्यय कहते हैं। अव्यय के प्रकार – अव्यय पाँच प्रकार के होते हैं- 1) क्रियाविशेषण क्रिया की विशेषता बताने वाले शब्द को क्रियाविशेषण कहते हैं। क्रियाविशेषण के प्रकार –...

विराम-चिह्न | Viram-Chinh | Punctuation Mark in Hindi

मौखिक या लिखित भाषा में अर्थ अभिव्यक्ति के लिए प्रयोग किए जाने वाले विशिष्ट चिह्नों को विराम चिह्न कहते हैं। प्रमुख विराम चिह्न निम्नलिखित हैं- 1) अल्प-विराम ( , ) इसका प्रयोग वाक्य के बीच में समान शब्दों, वाक्यों और उपवाक्यों को अलग करने के लिए किया जाता है। जैसे-...

अलंकार | Alankar | Ornament in Hindi

काव्य की शोभा बढ़ाने वाले तत्वों को अलंकार कहते हैं। अलंकार के प्रकार- अलंकार दो प्रकार के होते हैं- 1) शब्दालंकार जहाँ काव्य की शोभा में शब्दों द्वारा वृद्धि हो, वहाँ शब्दालंकार होता है। शब्दालंकार के प्रकार- (क) अनुप्रास अलंकार- जहाँ वर्ण की एक से अधिक बार...

मुहावरे | Muhavare | Idiom in Hindi

जो वाक्यांश सामान्य अर्थ के स्थान पर विशेष अर्थ को प्रकट करता है, उसे मुहावरा कहते हैं। मुहावरों के प्रयोग से भाषा में सरलता और सरसता उत्पन्न होती है। प्रमुख मुहावरे: अर्थ और प्रयोग अर्थप्रयोगअंधे की लाठी (एक मात्र सहारा)मेरे पड़ोसी का इकलौता बेटा स्वर्ग सिधार गया, अब...

लोकोक्तियाँ | Lokoktiyan | Proverb in Hindi

लोकोक्ति लोक अनुभव पर आधारित उपवाक्य होते हैं। यह श्रोता के हृदय पर गहरा और तीखा प्रभाव डालते हैं। इनका प्रयोग बोलचाल की भाषा में किए जाने के कारण, इन्हें कहावत भी कहा जाता है। प्रमुख लोकोक्तियाँ: अर्थ और प्रयोग अर्थप्रयोगअन्त भले का भला (अच्छे काम का परिणाम अच्छा...

पत्र-लेखन | patra-lekhan | Letter writer in Hindi

पत्र-लेखन एक महत्त्वपूर्ण कला है। आज के अति व्यस्त जीवन में मोबाइल, टेलीफोन, फैक्स, इंटरनेट जैसे साधनों के विकसित होने पर भी पत्र लेखन का महत्त्वपूर्ण स्थान है। पत्र लेखन के प्रकार- लेखन के आधार पर पत्र दो प्रकार के होते हैं। 1 अनौपचारिक या व्यक्तिगत पत्र 2 औपचारिक...

शादी का निमंत्रण पत्र | Shadi Ka Nimantran Patra | Marriage Invitation Letter In Hindi

अपने बड़े भाई के शुभ विवाह में सम्मिलित होने के लिए मित्र को निमंत्रण पत्र लिखिए। 105, बाटा नगर विजयवाड़ा दिल्ली 5 मार्च 2017 प्रिय मित्र धनंजय, सप्रेम नमस्कार, हम सब यहाँ कुशलपूर्वक हैं, आशा करता हूँ कि वहाँ भी सब कुशलपूर्वक होंगे। तुम्हें यह जानकर प्रसन्नता होगी कि...

चाचा को धन्यवाद पत्र | Chacha Ko Dhanyawad Patra | Thank You Letter To Uncle In Hindi

चाचाजी को पत्र लिखकर उनके द्वारा आपके जन्म-दिवस पर भेजे गए उपहार के लिए धन्यवाद व्यक्त कीजिए। कृष्णा छात्रावास श्याम विद्यालय शिवाजी नगर 10 जनवरी 2017 पूज्य चाचाजी, सादर चरण-स्पर्श। आपके द्वारा भेजा गया बधाई-पत्र और कलाई घड़ी का उपहार प्राप्त हुआ। उपहार पाकर अत्यधिक...

विद्यालय के वार्षिक उत्सव का पत्र | Vidyalaya Ke Varshik Utsav Ka Patra | School Annual Function Letter In Hindi

विद्यालय में हुए वार्षिकोत्सव का वर्णन करते हुए अपने मित्र को पत्र लिखिए। 111, विकास पथ शिवपुरी, नोएडा 30 जनवरी 2017 प्रिय मित्र मयंक, सप्रेम नमस्कार, तुम्हारा पत्र मिला, समाचार प्राप्त हुआ। हम लोग यहाँ कुशल-मंगल हैं और आशा करता हूँ कि तुम सब भी कुशलपूर्वक होंगे। इस...

पानी की समस्या पर नगरपालिका को पत्र | Paani Ke Samasya Per Nagarpalika Ko Patra | Letter To Municipality On Water Problem In Hindi

अपने मोहल्ले में वर्षा के कारण उत्पन्न हुई जल भराव की समस्या की ओर ध्यान आकृष्ट कराने के लिए नगरपालिका अधिकारी को पत्र लिखें। सेवा में, स्वास्थ्य अधिकारी, बुलन्दशहर नगरपालिका, बुलन्दशहर। विषय- जल-भराव की समस्या। महोदय, मैं आपका ध्यान हरिनगर की गलियों, नालियों,...