हेलीकॉप्टर का अविष्कार किसने किया?

 हेलीकॉप्टर एक विमान हैं । जब हम हेलीकॉप्टर को आकाश में उड़ते हुए देखते हैं तो हमारे दिमाग में यह विचार जरूर आता है कि इतना भारी हेलीकॉप्टर आसमान में कैसे उड़ता होगा । हेलीकॉप्टर एक ऐसा वाहन है जिसका इस्तेमाल किसी भी क्षेत्र में किया जा सकता है ।  अब Technology इतनी बढ़ गई है कि जिसके बारे में कभी कोई सोच भी नहीं सकता था अब वो सब हो रहा है । पहले के समय में यात्रा करने में महीनों लग जाते थे पर अब कुछ ही घंटों में मीलों की दूरी को आसानी से तय किया जा सकता है । हेलीकॉप्टर  के माध्यम से जहां जाना कभी संभव नहीं था आज वो भी संभव है । आज हमें दिन भर हेलीकॉप्टर और Airplane हवा में उड़ते हुए दिखाई देते हैं । हेलीकॉप्टर का अविष्कार   कम दूरी और तंग जगहों पर जाने के लिए किया गया था । आइए अब जानते  हैं कि हेलीकॉप्टर का अविष्कार कब हुआ और किसने किया ।

Helicopter Ka Avishkar

हेलीकॉप्टर का अविष्कार –

हेलीकॉप्टर की शुरुआत आज से 400 ईसा पूर्व हुई थी । जब कुछ चीनी बच्चे उड़ने वाले खिलौने के साथ खेल रहे थे । उन्हीं उड़ने वाले खिलौनों को 18वीं और 19 वीं शताब्दी में पश्चिमी वैज्ञानिकों चीनी खिलौनों के आधार पर उड़न मशीनों को विकसित किया था । सबसे पहला कामकाजी Prototype Helicopter VS-300 का अविष्कार किया गया था । और इसका अविष्कार 1939 में Igor Sikorsky ने किया था । यह हेलीकॉप्टर United Aircraft Corporation KVeet Siskorsicy Aircraft Division के अंदर बनाया गया था । लेकिन हैलिकॉप्टर 1907 में फ्रांस में Quadcopter हेलीकॉप्टर के रूप में शुरू किए गए थे । सबसे पहले हेलीकॉप्टर एकल मुख्य रोटर वाले और Tail Rotor डिजाइन के थे । जो कि सबसे सामान्य हेलीकॉप्टर माना जाता था लेकिन Tandem Rotor हेलीकॉप्टर उनसे ज्यादा क्षमता वाले थे जिनका प्रयोग आज भी किया जाता है । जैसे Coaxial Helicopter, Tailrotor Aircraft और Ompound Helicopter । हेलीकॉप्टर का अविष्कार एक फ्रांसीसी साइकिल निर्माता पॉल कानर ने किया था । इनका सबसे पहला जो हेलीकॉप्टर था वह लगभग 1 फुट जमीन से ऊपर उठने में ही कामयाब रहा था । इसके बाद हेलीकॉप्टर में सुधार कर अविष्कार किया एटिन ओहमे चेन को दो यात्रियों को ले जाने वाले पहले हेलीकॉप्टर का श्रेय दिया जाता है । इसकी लम्बाई 1 किलोमीटर थी तथा ये एक त्रिकोणीय सर्किट का था । 1870 में एक खिलौना हेलीकॉप्टर को बनाया गया था जिसको Rubar band के माध्यम से बनाया गया था । लगभग 9 साल पहले एक भाप से चलने वाले हेलीकॉप्टर का अविष्कार किया गया था । पर ये हेलीकॉप्टर नई धातु और ऐल्यूमीनियम से बने होने की वजह से ज्यादा सफल नहीं रहा ।

दुनिया के पांच सबसे बेहतरीन हेलीकॉप्टर –

* Ka – 52 “Alligator” – यह हेलीकॉप्टर रूस के द्वारा बनाया गया था तथा इस हेलीकॉप्टर को सबसे अधिक ऊंचाई और रफ्तार पर भी अच्छे से चलाया जा सकता है । तथा इसमें दो पायलट आराम से बैठ सकते हैं ।

* AH – 64  ” Apache “ – AH Apache अमेरिका का सबसे घायत हैलिकॉप्टर माना जाता है । इसमें बहुत सारे हथियार मौजूद होते हैं । जैसे हेलफायर मिसाइल , 70mm राकेट , और 30mm Automatic तोप ।

* Mi – 28N “Havoc “ -यह हेलीकॉप्टर रात में भी उड़ने में सक्षम होता है । तथा यह एक रशियन हेलीकॉप्टर है जो अपने साथ Anti Tank मिसाइल साथ लेकर चलता है ।

* Eurocopter Tiger – Eurocopter Tiger उड़ते समय अपने पीछे रडार, ध्वनि और इन्फ्रारेड किरणों के चिन्हों को बहुत कम छोड़ता है । जिसकी वजह से यह दुश्मन की नजर से बच सकता है ।

* Z – 10 – Z-10 हेलीकॉप्टर का उपयोग चीन की सेना के द्वारा किया जाता है ।यह लगभग 20,000 फीट की ऊंचाई तक उड़ सकता है । तथा यह एंटी मिसाइलों और Ty-90 मिसाइलों और 30mm की छोटी तोपों से भी हमला कर सकता है ।

हेलीकॉप्टर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें –

* अगर किसी कारण से हेलीकॉप्टर बंद हो जाता है तो हेलीकॉप्टर Rotor मशीन को धीरे धीरे जमीन पर उतारने की इजाजत देता है और वो भी अधिक आवाज के बिना ।

* हेलीकाप्टर खराब मौसम में उड़ने में भी सक्षम होते हैं क्योंकि वे पीछे की ओर और बगल में धीमा रूककर उड़ सकता है ।

* 1944 में हेलीकॉप्टर की मदद से पहले व्यक्ति को समुद्र से बचाया गया था । हेलीकॉप्टर की मदद से 3 मिलियन लोगों को बचाया गया है ।

* US में सिर्फ 11,000 से अधिक सिविल हेलिकॉप्टर ही संचालित है और दुनिया भर में 157 से भी अधिक देशों में 15,000 से अधिक हेलीकॉप्टर संचालित है ।

* यदि सैन्य हेलीकाप्टर की बात करें तो लगभग 45,000 से अधिक Operating दुनिया भर में मौजूद हैं ।

* हेलीकॉप्टर महासागर के ऊपर भी उड़ सकतें हैं यदि हेलीकॉप्टर में अतिरिक्त ईंधन और in flying Refiling को नियोजित किया जाता है तो ।

* सबसे बड़ा हेलीकॉप्टर सन् 1968 में रूसी Mil Mi -12 Homer था तथा जो 2255 मीटर तक 40,204 किलोग्राम भार के साथ ऊपर उठ सकता था ।