जीरा

0
62

जीरा का वैज्ञानिक नाम क्यूमिनम साईमिनम (Cuminum Cyminum) है। जीरा में एंटीआॅक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-फ्लैटुलेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा लौह, तांबा, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीज, सेलेनियम, जिंक, विटामिन्स और मैग्नीशियम जैसे तत्व भी अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। जीरा कोलेस्ट्राॅल, कैल्शियम, आयरन, मधुमेह को ठीक करने में बहुत की कारगर है।

जीरा के फायदे

  1. जीरा शरीर में चर्बी (Fat) एवं कोलेस्ट्राॅल (Cholesterol) को कम करता है, जिसके वजन घटता है।
  2. जीरा का सेवन करने से पेट दर्द एवं पेट की गैस से राहत मिलती है।
  3. बच्चों के पेट में दर्द होना बहुत ही आम बात है, जीरा का सेवन करने से पेट दर्द में आराम मिलता है।
  4. जीरे में लौह (Iron) तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। आयरन की कमी को दूर करने के लिए दैनिक भोजन में जीरा पाउडर का उपयोग करना चाहिए।
  5. जीरे में कैल्शियम (Calcium) और आयरन (Iron) भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो गर्भवती और स्तनपान करा रही महिलाओं के लिए अत्यन्त उपयोगी है।
  6. जीरे में बहुत अच्छे मधुमेह (Diabetes) विरोधी गुण पाए जाते हैं। जीरा हाइपोग्लाइसीमिया (hypoglycemia) और ग्लुकोसुरिया (glycosuria) में सहायता कर सकता है।
  7. जीरे में मौजूद एंटी-आॅक्सीडेंट (antioxidants) एवं एंटी-इंफ्लेमेटरी (antiinflammatory) गुण स्मरण शक्ति में सुधार लाते हैं और दिमाग पर पड़ रहा स्ट्रेस भी कम होता है।
  8. जीरे के सेवन से हड्डियाँ मजबूत होती हैं।
  9. जीरे के सेवन से महिलाओं में मासिक धर्म (Menstrual Cycle) के बाद ओस्टेपोरोसिस (osteoporosis) का खतरा कम करते हैं।
  10. जीरे का सेवन करने से अनिद्रा संबंधित विकार दूर होते हैं।

जीरा के नुकसान

  1. अत्यधिक मात्रा में जीरा का सेवन करने से पाचन क्रिया और हार्ट बर्न (Heart Burn) की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  2. गर्भवती महिलाओं को ज्यादा मात्रा में जीरा का सेवन नहीं करना चाहिए, इससे गर्भपात की समस्या हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here