अजवाइन

0
36

अजवाइन का वैज्ञानिक नाम ट्रैसीस्पर्मम एॅमी (Trachyspermum ammi) है। अजवाइन पाचक, तीखी, गर्म, कड़वी, दिल के लिए लाभकारी, बुखार, उल्टी, पेट के रोग, जोड़ों में दर्द आदि समस्याओं को दूर करने वाली औषधि है।

अजवाइन के फायदे

  1. अजवाइन को शहद के साथ नियमित सेवन करने से पथरी की समस्या भी दूर होती है।
  2. मधुमेह रोगियों के लिए अजवाइन बहुत ही फायदेमंद है, क्योंकि यह फंगल संक्रमण से बचाती है।
  3. अजवाइन का सेवन करने से पाचन क्रिया मजबूत होती है।
  4. अधिक शराब पीने से उल्टियाँ आ रही हैं, तो अजवाइन का सेवन करने से लाभ मिलेगा।
  5. गर्भावस्था में अजवाइन का सेवन करने से खून साफ रहता है।
  6. कान में दर्द होने पर अजवाइन के तेल की 2-3 बूंदे कान में डालने से तुरंत आराम मिलता है।
  7. अजवाइन को पानी में गाढ़ा पीसकर, दिन में 2 बार दाद, खाज, घाव और जली हुई जगह पर लेप को लगाने से आराम मिलता है और निशान भी खत्म हो जाता है।
  8. अजवाइन को भुनकर और पीसकर मंजन बना लें। इस मंजन द्वारा ब्रश करने से मसूड़ों के रोग खत्म हो जाएंगे।
  9. आधा कप अजवाइन के रस में आधी चम्मच सौंठ और पानी मिलाकर पीने से गठिया रोग आराम मिलता है।
  10. आधा कप अजवाइन के रस में, बराबर मात्रा में पानी मिलाकर सुबह और शाम भोजन के बाद पीने से दमा के रोग में आराम मिलता है।
  11. अजवाइन का पानी पीने से शरीर का मेटाबाॅलिज्म बढ़ता है और फैट बर्न होता है, जिससे शरीर का वजन घटता है।
  12. मासिक धर्म के समय पीड़ा होती है तो गुनगुने पानी के साथ अजवाइन फांक लेने से दर्द में आराम मिलता है।

अजवाइन के नुकसान

  1. अजवाइन की अतिरिक्त मात्रा (10 ग्राम से अधिक) पेट की गैस, जलन, मुँह के छाले आदि में कारण बनती है।
  2. पेट में अल्सर, आंतरिक रक्तस्राव, अल्सरेटिव कोलाइटिस (Ulcerative colitis) जैसे रोगों में अजवाइन का सेवन नहीं करना चाहिए।
  3. प्रेगनेंट महिलाएं भी अजवाइन का सेवन (10 ग्राम से अधिक नहीं) कब्ज और एसिडिटी की समस्या होने पर कर सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here