वेबसाइट विशलेषण | Competitors Analysis in Hindi

282

प्रतियोगियों की वेबसाइटस का विशलेषण करना SEO अनुसंथान और विशलेषण का महत्वपूरण हिस्सा है। दूसरी वेबसाइटस का विशलेषण करने से आपको अपनी वेब मार्केटिंग स्ट्रेटेजीस को बेहतर करने के नए तरीकों का पता चलेगा।

ऐसे बहुत से competitor-analysis tools हैं जिनकी मदद से किसी वेबसाइट की सर्च फ़्रिएन्द्लिनेस्स (search friendliness) की उसके प्रतियोगियों की वेबसाइट की सर्च फ़्रिएन्द्लिनेस्स से तुलना की जा सकती है। ये tool कई प्रकार के SEO metrics पर आधारित होते हैं और इन्हें आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। उदाहरण के लिए कुछ tools ऐसे भी हैं जिनमें आपको अपना और अपने प्रतियोगी के webpage का URL और keyword डालना होता है, tool आपको बता देगा कि इस keyword को लेके आप अपने प्रतियोगी से कितना आगे हो या पीछे हो।


Competitors वेबसाइट Analysis (विशलेषण) के कुछ खास तरीके

1) अपने SEO प्रतियोगियों का पता लगाएं या सूची बनाएं

आमतौर पर जो वेबसाइटस आपके कार्य छेत्र में आती है या आपके keyword की लिए अच्छे रैंक पर आती है वो आपकी प्रतियोगी है। अपने प्रतियोगियों को खोजने का दूसरा तरीका यह है कि अपने keyword को Google में सर्च करें और देंखे कोन कोन सी websites search results पृष्ठ पर ऊपर आ रही हैं।

2) प्रतियोगियों की वेबसाइटस देखें

अपने प्रतियोगियों की सूचि तैयार करने के बाद उनकी websites पर जाएं। आपको अपने प्रतियोगियों की websites की कई चीजों का पता चलेगा जैसे कि कंटेंट की गुणवता, main keywords, वेबसाइट का प्रकार (डायनामिक या स्टेटिक) आदि। इससे आपको अंदाजा हो जाएगा कि आपको अपने प्रतियोगियों से आगे निकलने के लिए कितनी मेहनत की जरुरत है।

3) प्रतियोगियों के backlinks की जांच करें

इस तरीके में आपको अपने प्रतियोगियों के backlinks की जांच करनी होती है। आपको उनके backlinks की संख्या, उनका स्त्रोत और एंकर टेक्स्ट आदि का पता करना होता है। अगर कुछ अच्छी websites के links मिलते हैं तो आप उनके वेबमास्टर से संपर्क करके अपने लिए backlinks ले सकते हो। Backlings का पता करने के लिए कुछ प्रचलित tools के उदाहरण हैं Backlink Anchor Text Analysis और Backlink Summary.

4) प्रतियोगियों की सोशल मीडिया पर मौजूदगी का विश्लेषण (analysis) करें

सोशल मीडिया का वेबसाइट पर traffic बढ़ाने के लिए अत्यधिक इस्तेमाल होता है। इसलिए कुछ खास एवम प्रचलित सोशल बुकमार्किंग sites पर जाएं और अपने प्रतियोगियों के पोस्ट की गुणवता और लोकप्रियता का विश्लेषण करें। twitter और facebook जैसी कुछ खास वेबसाइटस पर देखें, आपके प्रतियोगी सक्रिय हैं या नहीं।