लौंग का वैज्ञानिक नाम साजिजियम एरोमेटिकम (Syzygium aromaticum) है। लौंग में एंटी-आॅक्सीडेंट, एंटी फंगल, एंटी सेप्टिक, एंटी वायरल, एंटी इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक जैसे गुण पाए जाते हैं।

इसके साथ-साथ लौंग में पोटेशियम, सोडियम, फास्फोरस, लोहा, मैंगनीज, आयोडीन, विटामिन K, विटामिन C, कैल्शियम और मैग्नीशियम भी पाए जाते हैं।

लौंग के फायदे

  1. लौंग में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी (Antiinflammatory) और एनाल्जेसिक (Analgesic) गुण दांत दर्द को दूर करने में उपयोगी है।
  2. लौंग के सेवन से मुंह की दुर्गन्ध समाप्त हो जाती है।
  3. लौग के सेवन से उबकन और उल्टी की समस्या भी दूर हो जाती है।
  4. लौंग में मौजूद औषधीय गुण पाचन-क्रिया को सुधारते हैं।
  5. लौंग का तेल सूजन को कम करता है और जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द और गठिया के दर्द में भी आराम दिलाता है।
  6. लौंग एंटी-इंफ्लेमेटरी (Antiinflammatory) और एनाल्जेसिक (Analgesic) गुण के कारण श्वसन-तंत्र के लिए बहुत लाभदायक है।
  7. लौंग के तेल सिर दर्द से छुटकारा दिलाता है।
  8. लौंग के तेल कान में दर्द और संक्रमण से छुटकारा दिलाता है।
  9. लौंग में रोगाणुरोधी (Antimicrobial) गुण पाए जाते हैं, जो मुंहासों के साथ-साथ ब्लैकहेड्स, व्हाइटहेड्स और त्वचा से संबंधित समस्याओं का इलाज करते हैं।
  10. लौंग की चाय का सेवन करने से तनाव दूर होता है।

लौंग के नुकसान

  1. लौंग के अत्यधिक सेवन से गुर्दों और आँतो को नुकसान हो सकता है।
  2. जिन लोगों का ब्लड़ शुगर सामान्य स्तर से कम है, उन्हें लौंग का सेवन नहीं करना चाहिए।
  3. लौंग के अधिक सेवन से शरीर में थोड़ी जलन भी हो सकती है।
  4. लौंग से एलर्जी भी हो सकती है।
  5. गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान लौंग का सेवन कम करना चाहिए, क्योंकि इसकी एलर्जी शिशु को नुकसान पहंुचा सकती है।