श्री संतोषी माता चालीसा | Shri Santoshi Mata Chalisa in Hindi

माता संतोषी की पूजा के लिए शुक्रवार का व्रत करने का विधान है। शुक्रवार के दिन माता संतोषी की पूजा में निम्न चालीसा का भी पाठ किया जाता है। ।।दोहा।। श्री गणपति पद नाय सिर, धरि हिय शारदा ध्यान। सन्तोषी माँ की करूँ, कीरति सकल बखान।। ।।चैपाई।। जय संतोषी माँ जग जननी, खल...

श्री पार्वती चालीसा | Shri Parvati Chalisa in Hindi

हिन्दू धर्म में पार्वती जी को आदिशक्ति कहा गया है। काली, दुर्गा, अन्नपूर्णा, गौरा सब देवी पार्वती का ही रूप है। पार्वती जी की उपासना करने से मनुष्य के दुःखों का अंत हो जाता है। ॥दोहा॥ जय गिरी तनये डग्यगे शम्भू प्रिये गुणखानी गणपति जननी पार्वती अम्बे ! शक्ति ! भवामिनी...

श्री राधा चालीसा | Shri Radha Chalisa in Hindi

श्री राधा जी को चतुर्भुज विष्णु की अर्धांगिनी श्री लक्ष्मी का अवतार माना गया है। श्री राधा जी की आराधना से सुख-शांति और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। ॥दोहा॥ श्री राधे वुषभानुजा, भक्तनि प्राणाधार। वृन्दाविपिन विहारिणी, प्रानावौ बारम्बार।। जैसो तैसो रावरौ, कृष्ण प्रिय...

श्री विष्णु चालीसा | Shri Vishnu Chalisa in Hindi

भगवान विष्णु को दया-प्रेम का सागर माना जाता है। जगत का पालन श्री हरि विष्णु जी करते हैं। विष्णु जी त्रिदेवों में से एक बताए गए हैं। सच्चे मन से आराधना करने पर व्यक्ति की सारी इच्छाएं पूरी हो जाती हैं। ॥दोहा॥ विष्णु सुनिए विनय सेवक की चितलाय। कीरत कुछ वर्णन करूं दीजै...

श्री काली चालीसा | Shri Kali Chalisa in Hindi

माता काली को देवी दुर्गा का अवतार माना गया है। इनका रंग काला होने के कारण ही इन्हें कालरात्रि या मां काली कहा जाता है। इनकी उत्पत्ति राक्षसों के संहार हेतु की गयी थी। ।।दोहा।। जय जय सीताराम के मध्यवासिनी अम्ब। देहु दर्श जगदम्बा अब, करो न मातु विलम्ब।। जय तारा जय...

श्री सूर्य देव चालीसा | Shri Surya Dev Chalisa in Hindi

सूर्य देव की आराधना पुत्र की प्राप्ति के लिए शुभ फलदायी होती है। सूर्य देव इस जगत की आत्मा हैं। सूर्य देव की पूजा में गायत्री मंत्र के साथ उनकी चालीसा का भी विशेष महत्तव है। ॥दोहा॥ कनक बदन कुण्डल मकर, मुक्ता माला अङ्ग। पद्मासन स्थित ध्याइए, शंख चक्र के सङ्ग॥ ॥चौपाई॥...

श्री गंगा चालीसा | Shri Ganga Chalisa in Hindi

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार गंगा सबसे पवित्रतम नदी है। शास्त्रों में इसे पतित पावनी अर्थात मनुष्य के पापों को धोने वाली नदी कहकर प्रशंसा की गई है। ॥दोहा॥ जय जय जय जग पावनीए जयति देवसरि गंग। जय शिव जटा निवासिनीए अनुपम तुंग तरंग॥ ॥चौपाई॥ जय जग जननी हरण अघखानी। आनंद करनी...

श्री तुलसी चालीसा | Shri Tulsi Chalisa in Hindi

हिन्दू धर्म में तुलसी को देवी के रूप में सम्मानित किया गया है। तुलसी को भगवान विष्णु की पत्नी माना गया है। तुलसी को अक्सर भगवान विष्णु की प्रिय या विष्णुप्रिया के रूप में बुलाया जाता है। ।।दोहा।। श्री तुलसी महारानी, करूँ विनय सिरनाय। जो मम हो संकट विकट, दीजै मात...

श्री गायत्री चालीसा | Shri Gayatri Chalisa in Hindi

माता गायत्री भगवान शिव की तरह कल्याणकारी हैं। माता गायत्री की अनंत कृपा से पतितों को उच्चता मिलती है और पापियों के नाश होते हैं। पूरी भक्ति के साथ जो इस चालीसा का पाठ करता है, उस पर माँ गायत्री प्रसन्न होकर कृपा करती हैं। ॥दोहा॥ ह्रीं श्रीं क्लीं मेधा प्रभा जीवन...

श्री कृष्णा चालीसा | Shri Krishna Chalisa in Hindi

हिन्दू धर्म के अनुसार श्री कृष्ण जी को भगवान विष्णु का अवतार माना गया है। श्री कृष्ण वंदना के लिए लोग “हरे कृष्णा हरे कृष्णा, कृष्णा-कृष्णा हरे हरे” का जाप करते हैं। कृष्ण जी की पूजा में उनकी चालीसा का भी महत्तवपूर्ण स्थान है। ॥दोहा॥ बंशी शोभित कर मधुर,...

श्री राम चालीसा | Shri Ram Chalisa in Hindi

भगवान श्री राम को विष्णु जी का सातवाँ अवतार माना गया है। विष्णु जी का अवतार होने को कारण भगवान श्री राम को बहुत पूजनीय माना गया है। ॥चौपाई॥ श्री रघुवीर भक्त हितकारी। सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥ निशिदिन ध्यान धरै जो कोई। ता सम भक्त और नहिं होई॥ ध्यान धरे शिवजी मन माहीं।...

श्री साईं चालीसा | Sai Baba Chalisa in Hindi

शिरडी वाले साँई बाबा को हिन्दू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोग पूजते हैं। भारत के बेहद पूजनीय और प्रसिद्ध संत और फकीरों में साँई बाबा का विशेष स्थान है। पहले साई के चरणों में, अपना शीश नवाऊं मैं। कैसे शिरडी साँई आए, सारा हाल सुनाऊं मैं॥ कौन है माता, पिता कौन है, ये न...

श्री सरस्वती चालीसा | Shri Saraswati Chalisa in Hindi

हिन्दू धर्म में माता सरस्वती को ज्ञान की देवी माना गया है। सरस्वती जी को श्वेत वर्ण अत्यधिक प्रिय होता है, जो सादगी को दर्शाता है। सरस्वती जी की पूजा अर्चना में निम्न चालीसा का विशेष महत्तव है। ॥दोहा॥ जनक जननि पद कमल रज, निज मस्तक पर धारि। बन्दौं मातु सरस्वती, बुद्धि...

श्री शनि चालीसा | Shri Shani Chalisa in Hindi

हिन्दू धर्म में शनि देव को दंडाधिकारी एवं कर्मफल दाता माना गया है। भगवान शनि देव मनुष्य को उसके अच्छे और बुरे कर्मो का फल देते हैं। शनि साढ़ेसाती और शनि महादशा के दौरान ज्योतिषी शनि चालीसा का पाठ करने की सलाह देते हैं। ॥दोहा॥ जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल। दीनन...

श्री लक्ष्मी चालीसा | Shri Laxmi Chalisa in Hindi

देवी लक्ष्मी जी को धन, समृद्धि और वैभव की देवी माना गया है। लक्ष्मी जी की नित्य पूजा करने से मनुष्य के जीवन में कभी दरिद्रता नही आती है। ॥दोहा॥ मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास। मनोकामना सिद्ध करि, परुवहु मेरी आस॥ ॥सोरठा॥ यही मोर अरदास, हाथ जोड़ विनती करुं। सब...

श्री गणेश चालीसा | Shri Ganesh Chalisa in Hindi

श्री गणेश की पूजा हर शुभ कार्य को शुरू करने से पहले की जाती है, जिससे सारे कार्य सुख पूर्वक संपन्न हो जाते हैं। श्री गणेश की आराधना करने से घर में खुशहाली, व्यापार में वृद्धि और हर कार्य में सफलता मिलती है। ॥दोहा॥ जय गणपति सदगुणसदन | करिवर बदन कृपाल | विघ्न हरण मंगल...

श्री शिव चालीसा | Shri Shiv Chalisa in Hindi

श्री शिव चालीसा में शिव जी के कार्यों का वर्णन किया गया है| श्री शिव चालीसा में ४२ चौपाई और ३ दोहे दिए गए हैं, जिनमे १ दोहा शुरुआत में और २ दोहे अंत में दिए गए हैं| ॥दोहा॥ जय गणेश गिरिजासुवन मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम देउ अभय वरदान॥ ॥चौपाई॥ जय गिरिजापति...

श्री दुर्गा चालीसा | Shri Durga Chalisa in Hindi

श्री दुर्गा चालीसा में दुर्गा माता के बारे में बताया गया है| इसमें दुर्गा माँ के अनेक कार्यो का वर्णन किया गया है और साथ ही ये भी बताया गया है कि कैसे वह सारे देवों की प्रिय हैं| श्री दुर्गा चालीसा में 41 चौपाई हैं| ॥चौपाई॥ नमो नमो दुर्गे सुख करनी। नमो नमो अंबे दुःख...

श्री हनुमान चालीसा | Shri Hanuman Chalisa in Hindi

श्री हनुमान चालीसा सर्वाधिक पढ़ा जाने वाला चालीसा है| श्री हनुमान चालीसा में ४० चौपाई हैं, इसके अतिरिक्त इसमें ३ दोहे भी दिए गए हैं| इनमे २ दोहे शुरुआत में और १ दोहा अंत में दिया गया है| ॥दोहा॥ श्रीगुरु चरण सरोज रज, निज मनु मुकुर सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु, जो दायकु...