जामुन | Jamun Ke Fayde | Benefits of Blackberry in Hindi

239
हिंदी नाम अंग्रेजी नाम (English Name) वैज्ञानिक नाम (Scientific Name)
जामुन ब्लैकबेरी (Blackberry) रूबस (Rubus)

 

जामुन का वैज्ञानिक नाम रूबस (Rubus) है। जामुन का सेवन करने से मधुमेह (Diabetes) , दस्त (Diarrhea) , मुंह के छालों (Ulcer) और रक्ताल्पता (Anemia) आदि समस्याओं में लाभ मिलता है। जामुन की सबसे ज्यादा पैदावार अमेरिका में होती है। ऐसे और भी अन्य देश हैं जहाँ जामुन की पैदावार होती है, जैसे भारत, कनाडा, पोलैंड, जर्मनी, नीदरलैंड, फ्रांस, मेक्सिको, स्वीडन, स्पेन और न्यूजीलैंड आदि।

जामुन का फायदे

  1. जामुन का सेवन करने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है और पाचन से सम्बंधित समस्याओं में राहत मिलती है।
  2. जामुन के सूखे बीजों को पीसकर सेवन करने से मधुमेह (Diabetes) रोग में लाभ मिलता है।
  3. जामुन के सूखे बीजों को पीसकर दही या पानी के साथ सेवन करने से पथरी और कैंसर होने की संभावना कम होती है।
  4. दस्त (Diarrhea) में जामुन को सेंधा नमक के साथ सेवन करने से लाभ होता है।
  5. जामुन के बीजों को पीसकर उससे मंजन करने से दांत व मसूड़े स्वस्थ रहते हैं।
  6. जामुन का सेवन करने से मुंह के छालों (Ulcer) में लाभ मिलता है।
  7. जामुन के बीज को पीसकर, बच्चों को पानी के साथ पिसे हुए बीजों का सेवन कराने से बिस्तर पर मूत्र (Toilet) होने की समस्या में लाभ मिलता है।
  8. जामुन का लेप बनाकर चेहरे पर लगाने से दाग-धब्बे मिट जाते हैं।
  9. जामुन का सेवन करने से रक्ताल्पता (Anemia) रोग में लाभ मिलता है।
  10. जूते-चप्पल के द्वारा उत्पन्न पांव के छालों में जामुन के बीज को पीसकर लगाने से लाभ मिलता है।

जामुन के नुकसान

  1. स्तनपान करा रही महिलाओं के लिए जामुन का सेवन करना नुकसानदेह हो सकता है।
  2. खाली पेट जामुन का सेवन करने से हानि होती है।
  3. जामुन का सेवन करने के बाद दूध पीना हानिकारक हो सकता है।
  4. अधिक जामुन का सेवन करना फेफड़ों के लिए हानिकारक हो सकता है।