भारत एक बहुत धनी देश है, लेकिन यहां के लोग बहुत गरीब हैं। इसका मुख्य कारण है कि भारत का ज्यादातर पैसा काले धन में ही चला जाता है। अवैध तरीकों या गैर-कानूनी ढ़ंग से कमाया गया धन ‘काला धन’ कहलाता है। दूसरे शब्दों में काला धन वह भी है, जिस पर टैक्स नहीं दिया गया है। गैर-कानूनी ढ़ंग से कमाया गया धन वो होता है, जो चोरी-ड़कैती, लूट-पाट, तस्करी या फिर घूस लेकर कमाया जाता है। यह पैसा सरकार की नजर में नहीं आता, जिससे सरकार को टैक्स नहीं मिलता। सरकार मजबूर होकर चीजों के दाम बढ़ाती है, जिससे महंगाई बढ़ती है और गरीब आदमी इस महंगाई की चपेट में आ जाता है।

‘काला धन’ के विषय पर आधारित स्लोगन निम्नलिखित हैं।

स्लोगन.1

बंद हुए 500 और 1000 के नोट, सामने आई काले धन की खोट।

स्लोगन.2

भ्रष्टाचार रोकने का निकला उपाय, बाहर निकलेगी अघोषित आय।

स्लोगन.3

प्रधानमन्त्री जी का ऐतिहासिक फैसला, काला धन अब बाहर निकला।

स्लोगन.4

काले धन का होगा नाश, भ्रष्टाचार का पर्दाफाश।

स्लोगन.5

काले धन का नहीं अब मोल, खुल गई है अब उसकी पोल।

स्लोगन.6

आतंकवादी गतिविधियों पर लगे रोक, सरकार ने बंद किये 500 और 1000 के नोट।

स्लोगन.7

500 और 1000 के नोट पर प्रतिबन्ध, सीधा है भ्रष्टाचार रोकने से सम्बन्ध।

स्लोगन.8

प्रारम्भ में होगी जन-जन को असुविधा, देश हित के सामने न हो व्यक्तिगत सुविधा।

स्लोगन.9

आओ मिलकर हम सब इस महायज्ञ में सम्मिलित हों, राष्ट्र हित के इस निर्णय में सभी एकजुट होकर सहयोग दो।