जीवनी

जीवनी किसी व्यक्ति के जीवन का विस्तार पूर्वक वर्णन होता है, जिसमें उसके जन्म, शिक्षा, कार्य, पारिवारिक जीवन, उपलब्धियाँ इत्यादि के बारे में विस्तृत रूप से बताया जाता है।

परिचय डॉ. धोंडो केशव कर्वे को 'महर्षि कर्वे' के नाम से भी जाता है, उन्हें आधुनिक भारत का सबसे बड़ा समाज सुधारक और उद्धारक माना जाता है। उन्होंने अपना पूरा जीवन संघर्षों से लड़ने तथा समाज सेवा करते हुए समाप्त कर दिया। धोंडो केशव कर्वे ने अपने कथन 'जहाँ चाह,...
परिचय डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी भारतीय शिक्षाविद, चिन्तक, राजनेता और भारतीय जनसंघ के संस्थापक थे। उन्हें एक प्रखर राष्ट्रवादी के तौर पर भी पहचाना जाता है। वे जवाहर लाल नेहरु मंत्रिमंडल में उद्योग और आपूर्ति मंत्री रहे, पर जवाहर लाल नेहरु के साथ मतभेदों के कारण मंत्रिमंडल और कांग्रेस पार्टी...
परिचय वी. के. कृष्ण मेनन का पूरा नाम 'वेंगालिल कृष्णन कृष्ण मेनन' था। वे भारत के रक्षा मंत्री (1957 से 1962), भारतीय कूटनीतिज्ञ और राजनीतिज्ञ थे। टाइम मैगज़ीन के मुताबिक, वे जवाहरलाल नेहरु के बाद भारत में सबसे प्रभावी व्यक्ति थे। उन्होंने इंग्लैंड में एक पत्रकार एवं ‘इंडिया लीग’ के...
परिचय चिदंबरम सुब्रमण्यम एक भारतीय राजनेता और स्वाधीनता सेनानी थे। उन्होंने भारत सरकार में वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री, खाद्य और कृषि मंत्री के रूप में कार्य किया। बाद में वे महाराष्ट्र राज्य के राज्यपाल भी रहे। भारत के खाद्य और कृषि मंत्री के रूप में उन्होंने एम.एस. स्वामीनाथन, बी. शिवरमन...
परिचय सी. एन. अन्नादुराई का पूरा नाम 'कान्जीवरम नटराजन अन्नादुराई' था, वे एक भारतीय राजनेता और तमिल नाडु राज्य के मुख्यमंत्री थे। वे तमिल नाडु के प्रसिद्ध नेता, प्रथम गैर-कांग्रेसी मुख्यमंत्री और ‘द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम’ दल के संस्थापक थे। उनका तमिल नाडु की राजनीति में बहुत प्रभाव था, राज्य की...
परिचय अभिनंदन वर्धमान का जन्म 21 जून 1983 को कांचीपुरम से 15 किमी दूर तिरुपानामूर (भारत) में हुआ है। अभिनंदन वर्धमान के अंदर बचपन से ही देशभक्ति का जज्बा कूट-कूटकर भरा था। बचपन से ही उनका सपना पायलट बनने का था। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद ही उन्होंने भारतीय...
परिचय पांडुरंग वामन काणे संस्कृत के विद्वान्‌ और धर्मशास्त्री थे। उनका जन्म 7 मई 1880 को महाराष्ट्र के रत्नागिरि ज़िले के दापोली नामक गाँव में एक चितपावन ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम ‘श्री वामन राव काणे’ था, जो पुरोहिताई के कार्य के साथ-साथ वकालत के कार्य...
ई.वी. रामासामी का पूरा नाम इरोड वेंकट नायकर रामासामी था, वे एक तमिल राष्ट्रवादी, राजनेता और सामाजिक कार्यकर्ता थे। उन्हें ‘पेरियार’ के नाम से भी जाना जाता था। इन्होने ‘आत्म सम्मान आन्दोलन’ या ‘द्रविड़ आन्दोलन’ की शुरुआत की थी। उन्होंने ‘जस्टिस पार्टी’ की नींव रखी, जो बाद में ‘द्रविड़...
परिचय भैरों सिंह शेखावत भारत के पूर्व उप-राष्ट्रपति और एक सम्मानित भारतीय राजनीतिज्ञ थे। वे एकमात्र ऐसे नेता थे, जिन्होंने सन 1952 से राजस्थान के सभी चुनावों में जीत हासिल की। भैरों सिंह शेखावत को राजस्थान में औद्योगिक और आर्थिक विकास के पिता के तौर पर भी पहचाना जाता है। भैरों...
परिचय कांशीराम एक भारतीय राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे। उन्होंने ‘अछूतों’ और ‘दलितों’ के राजनीतिक एकीकरण तथा उत्थान के लिए जीवन पर्यन्त कार्य किया। उन्होंने सन 1984 में ‘बहुजन समाज पार्टी’ (BSP) की स्थापना की। कांशीराम ने अपना पूरा जीवन पिछड़े वर्ग के लोगों की उन्नति के लिए और उन्हें...

खबरें छूट गयी हैं तो