Home जीवनी

जीवनी

जीवनी किसी व्यक्ति के जीवन का विस्तार पूर्वक वर्णन होता है, जिसमें उसके जन्म, शिक्षा, कार्य, पारिवारिक जीवन, उपलब्धियाँ इत्यादि के बारे में विस्तृत रूप से बताया जाता है।

गोपाल कृष्ण गोखले भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के मार्गदर्शकों में से एक थे। उन्हें भारत का 'ग्लेडस्टोन' भी कहा जाता है और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नरमपंथी नेता थे। महात्मा गांधी उन्हें अपना राजनैतिक गुरु मानते थे। राजनैतिक नेता होने के साथ-साथ वे एक समाज सुधारक भी थे। उन्होंने...
दादाभाई नौरोजी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की नींव रखने वाले व्यक्तियों में से एक थे। उन्हें भारत का 'वयोवृद्ध पुरुष' (Grand Old Man of India) कहा जाता था। वे अंग्रेजों के शासन काल में भारत के एक पारसी बुद्धिमान, शिक्षाशास्त्री, रुई (सूती कपडा) के करोवारी तथा शुरुआती राजनैतिक एवं समाज...
मौलाना अबुल कलाम आज़ाद भारत के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। वे एक प्रकांड विद्वान के साथ-साथ एक कवि भी थे। उन्हें अबुल कलाम गुलाम मुहियुद्दीन के नाम से भी जाना जाता है और वे एक मशहूर भारतीय मुस्लिम विद्वान थे। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद कई भाषाओँ...
परिचय भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में मोतीलाल नेहरू ने देश के लिए आनंदपूर्ण ज़िंदगी त्यागकर अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया। वे आजादी से पहले के देश के मशहूर वकीलों में से एक थे और उस समय उनकी फीस लगभग 1 हजार रूपये थी। उनके ग्राहक ज्यादातर बड़े ज़मींदार...
परिचय ई. एम. एस. नंबूदरीपाद भारत के मशहूर कम्युनिस्ट नेता, सामाजिक मार्क्सवादी विचारक, क्रन्तिकारी लेखक, इतिहासकार और केरल के पहले मुख्यमंत्री थे। उनका पूरा नाम ‘एलमकुलम मनक्कल शंकरन नंबूदरीपाद’ था। उन्होंने देश के स्वतंत्रता आंदोलन में अहम योगदान दिया और इसके लिए कई बार जेल भी गए। ई. एम. एस....
परिचय लाला लाजपत राय भारत के मुख्य क्रांतिकारियों और स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। वे ‘पंजाब केसरी’ के नाम से भी जाने जाते थे और कांग्रेस के 'गरम दल' के तीन मुख्य नेताओं में से एक थे। उन्होंने ही ‘लक्ष्मी बीमा कम्पनी’ और ‘पंजाब नैशनल बैंक’ (PNB- Punjab National Bank)...
परिचय राजकुमारी अमृत कौर भारत की पहली स्वास्थ्य मंत्री थीं और वे इस पद पर 10 साल तक रहीं। वे एक प्रख्यात गांधीवादी महिला, स्वतंत्रता सेनानी, एक सामाजिक कार्यकर्ता थीं। इतना ही नहीं वे संविधान सभा की एक सदस्य भी थीं। शुरूआती जीवन राजकुमारी अमृत कौर का जन्म 2 फरवरी 1889 को...
मदनमोहन मालवीय एक जाने-माने स्वतंत्रता सेनानी थे और इतना ही नहीं गाँधी जी ने उन्हें अपना बड़ा भाई कहा और ‘भारत निर्माता’ की संज्ञा दी। जवाहरलाल नेहरू ने कहा कि मदनमोहन मालवीय ने ही आधुनिक भारतीय राष्ट्रीयता की नींव रखी थी। इन्हें लोग ‘महात्मना’ और पंडित मदनमोहन मालवीय के...
परिचय भीखाजी जी रूस्तम कामा को लोग ‘मैडम कामा’ के नाम से भी जानते हैं। वे भारतीय मूल की फ्रांसीसी महिला थीं, जिन्होंने दुनिया के अलग-अलग देशों में जाकर भारत की आजादी के लिए माहौल बनाया। मैडम कामा ने जर्मनी के स्टटगार्ट शहर में 22 अगस्त 1907 में 7वीं अंतर्राष्ट्रीय कांग्रेस...
परिचय भारतीय महिला उद्योगपति सुलज्जा फिरोदिया मोटवानी वर्तमान में काइनेटिक मोटर कंपनी लिमिटेड और ‘काइनेटिक इंजीनियरिंग लिमिटेड’ के संयुक्त प्रबंध संचालक हैं। उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और लगन से यह सिद्ध किया है कि अवसर मिलने पर बेटी न सिर्फ पिता की यथार्थ उतराधिकारी बन सकती है, बल्कि अपने परिवार...

खबरें छूट गयी हैं तो