बेंजामिन फ्रैंकलिन अमेरिका राज्य के संस्थापकों में से एक थे। बेंजामिन फ्रैंकलिन एक प्रसिद्ध अमेरिकन वैज्ञानिक, आविष्कारक, लेखक, राजनीतिज्ञ, सैनिक, नागरिक कार्यकर्ता और राजनयिक थे। बेंजामिन फ्रैंकलिन वैज्ञानिक के रूप में बिजली के सम्बन्ध में अपनी खोजों, सिद्धांतों के लिए और भौतिक विज्ञान के इतिहास में एक प्रमुख व्यक्ति रहे। बेंजामिन फ्रैंकलिन ने बिजली की छड़, बाईफोकल्स, फ्रैंकलिन स्टोव, गाड़ी के ओडोमीटर और ग्लास ‘आर्मोनिका’ का आविष्कार किया। बेंजामिन फ्रैंकलिन ने अमेरिका में पहला सार्वजनिक ऋण राशि पुस्तकालय और पेंसिल्वेनिया में पहले अग्नि विभाग की स्थापना की थी।

बेंजामिन फ्रैंकलिन का जन्म 17 जनवरी सन. 1706 मेंबॉस्टन, मैसाचुसेट्स के मिल्क स्ट्रीट पर हुआ था। बेंजामिन फ्रैंकलिन के पिता का नाम जोशिया फ्रैंकलिन और माता का नाम आबियाफोलगर था। बेंजामिन के पिता जोशिया फ्रैंकलिन वसा, साबुन और मोमबत्तियां बनाने का काम करते थे। जोशिया बेंजामिन को पढ़ने के लिए पादरी के साथ स्कूल भेजे गए लेकिन उनके पास इतने पैसे नहीं थे। तब वे बाँस्टन लैटिन स्कूल पढ़ने के लिए चले गए, उन्होंने स्नातक नहीं किया और वह अपने घर पर ही पढ़ते रहे। इसके बाद बेंजामिन ने अपने पिता के साथ काम किया और 12 वर्ष की उम्र में अपने भाई जेम्स फ्रैंकलिन के प्रिंटिंग प्रेस में एक शिक्षु के रूप में कार्य करना शुरू कर दिया। बेंजामिन के भाई जेम्स ने द न्यू-इंग्लैंड कुरेंट अखबार की स्थापना की। अखबार में प्रकाशन ने जब पत्र लिखने से मना कर दिया, तब बेंजामिन ने इस अखबार में “मिसेज़ डू गुड” के नाम का लेख लिखा और प्रकाशित हुआ, जो शहर में चर्चा का विषय बन गया। जब उनके भाई जेम्स को इसके लेखक का पता चला कि वह उसका छोटा भाई है तो वह नाराज हो गया। बेंजामिन ने बिना बताये शिक्षु का पद छोड़ दिया और वहां से भाग गए। 17 साल की उम्र में बेंजामिन नई शुरुआत की तलाश में निकल गए, वहां पर उन्होंने कई दुकानों में लेखक का काम किया।

बेंजामिन फ्रैंकलिन के प्रमुख कोट्स:

“अपनी अज्ञानता का एहसास होना ज्ञान के मंदिर की देहलीज तक पहुँचना है।”
“चाल चलना और विश्वासघात करना मूर्खों के काम हैं। उनके पास इतना दिमाग नहीं होता कि ईमानदारी से काम कैसे करें।”
“राजनेता बच्चों की लंगोटी की तरह होते हैं। उन्हें समय-समय पे बदलना चाहिए और वो भी समान कारणों से।”
“पैसे से मैं कभी खुश नहीं हुआ, ना कभी हो सकता हूँ। पैसे से खुशी नहीं मिल सकती, जितना ज्यादा ये किसी के पास होता है उतना ज्यादा उसे चाहिए होता है।”
“जो सुरक्षा के लिए आजादी का त्याग कर देता है, वो दोनों में से किसी के भी लायक नहीं है।”
“जीवन में तीन चीजें हैं जो बहुत ही कठोर हैं। इस्पात, हीरा और स्वयं को पहचानना।”
“शादी से पहले आँखें पूरी तरह खुली रखो, और बाद में आधी बंद।”
“अगर एक आदमी की आधी इच्छाएँ पूरी हो जाए तो उसकी मुश्किलें दोगुनी हो जाएंगी।”
“जिसको खुद से प्यार हो जाता है, उसका कोई प्रतिद्वंदी नहीं होगा।”
“खुशी चीजों में नहीं है, यह हमारे अंदर है।”
“जेल सबसे सुरक्षित जगह है, लेकिन वहाँ कोई आजादी नहीं है।”
“जल्दबाजी में काम खराब हो जाता है।”
“सच्चा दोस्त वही है जो मुसीबत में काम आए।”
“ईश्वर उनकी मदद करता है, जो अपनी मदद खुद करते हैं।”
“ज्ञान में किया गया निवेश हमेशा फायदेमंद रहता है।”
“जिसके पास धीरज है वो पा सकता है, जो वो चाहता है।”
“जल्दी सोने और उठने से आदमी स्वस्थ, धनी और समझदार होता है।”
“आप देरी कर सकते हो, पर वक्त नहीं करेगा।”
“गुजरा वक्त कभी वापस नहीं आता।”