बालूशाही कैसे बनाते हैं ( Baalushashi kese Banate Hai  )

बालूशाही एक प्रसिद्ध भारतीय मिठाईयों में से एक है |  जिसे घी में तलकर बनाया जाता है । बालूशाही एक ऐसी मिठाई है जिसके बिना त्यौहार फीके लगते हैं क्योंकि यह एक ऐसी मिठाई हैं जो हर किसी को पसंद आती है । बालूशाही खासतौर पर होली पर बनाई जाती है ‌।  वैसे तो बालूशाही को घर पर आसानी से बनाया जा सकता है पर कभी कभी घर पर बनाई हुई बालूशाही बाजार में मिलने वाली बालूशाही की तरह खस्ता और मुलायम नहीं बनती थोड़ी बहुत गड़बड़ हो ही जाती है । इसलिए आज हम आपके लिए बालूशाही बनाने की रेसिपी लेकर आए हैं |  जो आप सभी को जरूर पसंद आएगी तो आइए जानते हैं कि घर पर खस्ता और मुलायम बालूशाही कैसे बनाते हैं –

Baalushashi Recipe In Hindi l बालूशाही कैसे बनाते हैं

 बालूशाही बनाने की सामग्री –

  • 1 कप मैदा
  • 1/4 कप शुद्ध घी
  • 1 Teaspoon दही
  • 1/2 Teaspoon बेकिंग सोडा
  • 500 g कप शक्कर
  • 1/4 कप पानी
  • तेल तलने के लिए
  •  एक चुटकी इलायची पाउडर
  • बारीक कटे हुए काजू-किशमिश , बादाम सजावट के लिए

 बालूशाही बनाने की विधि

* सबसे पहले हम एक बर्तन में घी और पानी दोनों को अच्छी तरह से मिला लेते हैं । और इसमें एक चुटकी बेकिंग सोडा और 1 Teaspoon दही डालकर अच्छी तरह से मिला लेंते हैं ।

* मैदे को चलनी की अच्छी तरह से छान लें और इस मिश्रण में आटे को मिला दें । और एक चम्मच की मदद से आटे को मिश्रण में अच्छी तरह से मिला लें और एक मुलायम आटा गूंथ लें । आटे गूंथने के बाद इसे 8-10 मिनट के लिए ढककर रख दें ।

चाशनी बनाने की विधि –

* अब हम चाशनी तैयार करते हैं इसके लिए सबसे पहले एक पैन लेंगे और उसे गैस पर रखकर गैस चालू करेगे उसमें शक्कर और पानी डालकर पकाएंगे । और बीच बीच में चाशनी को एक चम्मच की मदद से चलाते रहेंगे । जब चाशनी अच्छी तरह से उबल जाए तो चाशनी को गैस से उतार लेंगे ।

बालूशाही की गोलियां बनाने का तरीका –

* अब 8-10 मिनट के बाद हम गुंथे हुए आटे को लेंगे और उसकी गोलियां बना लेंगे । अब इन गोलियों को अच्छी तरह से गोल करते हुए हल्का सा दबाकर बीच में उंगली से छेद कर देते हैं । इसी तरह से हम बाकी की बालूशाही भी बना लेते हैं ।

* अब हम एक कड़ाही लेंगे और उसे गैस पर रखकर गैस चालू करेंगे । अब इस कड़ाही में हम तेल या घी बालूशाही तलने के हिसाब से डालेंगे और गर्म होने देंगे ।

* जब तेल अच्छी तरह से गर्म हो जाएं तो इसमें हम एक एक करके बालूशाही डालेंगे । बालूशाही को हमें धीमी आंच पर ही तलना है । जब बालूशाही की एक परत सुनहरे रंग की हो जाएं तो बालूशाही को एक। चम्मच की मदद से पलट देंगे और दूसरी तरफ को भी सुनहरा होने तक तल लेंगे ।

* जब बालूशाही दोनों तरफ से अच्छी तरह से सुनहरे रंग की हो जाएं तो बालूशाही को कड़ाही से निकाल लेंगे और तैयार चाशनी में 4-5 मिनट के लिए डाल देंगे और 2-3 मिनट बाद पलट देंगे ताकि बालूशाही में अच्छी तरह से चाशनी भर जाए । इसी तरह से बाकी की बालूशाही भी तैयार कर लें ।

* अब सभी बालूशाही को एक प्लेट या बाउल में निकाल लें और ऊपर से बारीक कटे हुए काजू और पिस्ता से सजाकर सर्व करें ।

ध्यान रखने योग्य बातें

* बालूशाही को बनाने के बाद आप इसे 20 दिन तक एक टाइट कंटेनर में स्टोर करके रख सकते हैं । इसका फायदा यह है कि जब भी आपका मन‌ बालूशाही खाने का हो तो आप तुरंत निकालकर बालूशाही खा सकते हैं ।

* बालूशाही को धीमी आंच पर ही तलें ताकि बालूशाही अच्छी तरह से अंदर तक पक जाए और कच्ची ना रह जाए।

* जब चाशनी तैयार हो जाए तो चाशनी को उंगलियों पर लें और दूसरी उंगली पर लगाकर देखें । अगर दोनों उंगलियों के बीच एक तार सा बन‌ रहा है तो इसका मतलब है कि चाशनी तैयार है ।

* मैदे को पानी में मिलाते समय हमें मसलना नहीं है सिर्फ आटे और पानी को मिलाना है ।

* आप चाहें तो चाशनी में केसर के 4-5 रेशे भी डाल सकते हैं ।

बालूशाही को‌ तलने के लिए आप शुद्ध देसी घी या तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ।