“आयुष्मान भारत योजना” भारत सरकार की एक प्रस्तावित योजना है। इस योजना को लोग ‘मोदीकेयर’ के नाम से भी जानते हैं। इस योजना की शुरुआत 23 सितम्बर 2018 को हुई थी। इस योजना की घोषणा 2018 के बजट सत्र में वित्त मंत्री ‘अरूण जेटली’ द्वारा की गई थी। इस योजना का मूल मकसद उन लोगों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है, जो आर्थिक रूप से कमजोर है या गरीबी रेखा के नीचे आते हैं। इसके अन्तर्गत आने वाले हर परिवार को 5 लाख तक का ‘कैशरहित स्वास्थ्य बीमा’ दिया जाएगा। 10 करोड़ परिवार, जो गरीबी रेखा के नीचे आते हैं, वे इस योजना का लाभ उठा पाएँगे। इसके अलावा सरकार बाकी आबादी को इस योजना के अन्तर्गत लाने की योजना बना रही है।

इस योजना की शुरुआत सबसे पहले 23 सितम्बर 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी। इस योजना को कामयाब बनाने के लिए सरकार ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है- हेल्पलाइन 14555 तथा टोल फ्री नंबर 1800111565 पर फोन करके आप यह जान सकते हैं कि आप इस योजना का लाभ उठा सकते है या नहीं। इसके अलावा आप इस नंबर पर फ़ोन करके यह जान सकते हैं कि अगर आप के परिवार में कोई व्यक्ति किसी बीमारी से पीडित है, तो उसका इलाज कैसे कराएं और साथ ही यह भी जाना जा सकता है के कोई भी इस योजना से कैसे जुड़ सकता है।

योजना की जरुरी बातें

सही स्वास्थ्य बीमा सुविधा- इस योजना को लाने का सबसे बड़ा कारण देश में लोगों को स्वास्थ्य से संबंधित सुविधा देना था। इस योजना के लागू होने के बाद गरीब लोगों की बीमारी या बाकी किसी हालत में अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं दी जा सके, आम तौर पर गरीब लोग पैसे की कमी होने की वजह से अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त नहीं कर पात हैं।

योजना का लाभ- इस योजना से भारत के लगभग 10 करोड़ गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा। एक बार यह बीमा पॉलिसी लेने के बाद पूरे परिवार का इलाज कराया जा सकता है। इसी वजह से करीब 50 करोड़ लोग इस योजना का फायदा ले सकते हैं।

कुल बीमा राशि- इस योजना के हिसाब से 1 परिवार को 1 साल के अंदर 5 लाख का बीमा दिया जाएगा, जिसे जरुरत पड़ने पर लोग इस्तेमाल कर पाएँगे।

योजना का लाभ कौन उठा सकता है?

गरीब परिवार- कोई ऐसा व्यक्ति जिसके पास बीमारी के समय में इलाज करने के लिए ना तो पैसे हो और ना ही कोई पॉलिसी, इस हालत में कोई भी गरीब व्यक्ति सरकार से अपने इलाज के लिए सहायता प्राप्त कर सकता है।

परिवार के सदस्यों की संख्या- इस योजना के बारे में कहा जा रहा है कि शुरुआत में परिवार के 5 सदस्यों को इस योजना से लाभ मिलेगा, मगर बाद में पूरे परिवार को इस योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा।

SECC 2011 डेटा- इस योजना का लाभ उन लोगों को दिया जाएगा, जिनका नाम  SECC-2011 (Socio-Economic and Caste Census 2011) के अंतर्गत रजिस्टर हो।

आधार कार्ड होना आवश्यक है- इस योजना का लाभ लेने के लिए जरुरी है, कि उस व्यक्ति के पास अपना आधार कार्ड हो और इसके अलावा उस व्यक्ति का आधार कार्ड उसके परिवार आईडी से भी लिंक होना चाहिए, अगर ऐसा नहीं होता तो वह व्यक्ति “आयुष्मान भारत योजना” का लाभ नहीं उठा सकता।