हींग

0
52

हींग का वैज्ञानिक नाम फेरूला एसा-फौटिडा (Ferula assa-foetida) है। हींग में प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फास्फोरस, लौह, नियासिन और कैरोटीन प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। हींग में एंटी-बायोटिक, एंटी-आॅक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, मूत्रवर्धक और एंटी-कार्सिनोजेनिक जैसे गुण भी होते हैं।

हींग के फायदे

  1. हींग का सेवन करने से पेट की परेशानियाँ जैसे अपच, गैस, बदहजमी, पेट फूलना आदि दूर होती हैं।
  2. हींग का प्रयोग करने से अस्थमा, ब्रोकाइटिस, सूखी खांसी, काली खांसी और सर्दी जैसी श्वसन समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।
  3. हींग का सेवन करने से मासिक धर्म का दर्द, अनियमित माहवारी और मासिक धर्म के दौरान भारी रक्त प्रवाह में आराम मिलता है।
  4. हींग का सेवन करने से माइग्रेन के कारण हो रहे सिर दर्द में आराम मिलता है।
  5. हींग को पानी में उबालकर, इस पानी से कुल्ला करने से दांतों का दर्द दूर हो जाता है।
  6. हींग को तिल के तेल में पकाकर इसकी कुछ बूंदें कान में डालने से कान के दर्द में आराम मिलाता हैं।
  7. नवजात शिशुओं में पेट दर्द होने पर हींग का पतला पेस्ट नाभि के आसपास लगाने से पेट दर्द शांत होता है।
  8. चने के बराबर हींग को गूलर के सूखे फलों के साथ खाने से पीलिया में लाभ मिलता है।
  9. हींग को पानी में पीसकर, पेट पर लेप करने से उल्टी बंद हो जाती है।
  10. हींग को घी में पीसकर, जोड़ों पर मालिश करने से गठिया का रोग दूर हो जाता है।

हींग के नुकसान

  1. हींग का अधिक मात्रा में सेवन करने से होठों में सूजन ही समस्या बन सकती है।
  2. हींग के अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से गैस या दस्त जैसी परेशानी भी बन सकती है।
  3. उच्च या निम्न रक्त चाप चाप से पीड़ित व्यक्तियों को हींग का सेवन नहीं करना चाहिए।
  4. कुछ लोगों में हींग के सेवन से त्वचा में एलर्जी की परेशानी भी बन सकती है।
  5. गर्भवती और स्तनपान करा रही महिलाओं को हींग का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे रक्त-संबंधित समस्याएँ बन सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here