अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए तैनात होंगे NSG कमांडो

488

PDP से समर्थन वापसी के बाद जम्मू-कश्मीर राज्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑपरेशन चक्रव्य़ूह की शुरूआत कर दी है। आतंकी हमले से अमरनाथ यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं को बचाने के लिए पहली बार NSG कमांडो तैनात किए जा रहे हैं, तथा उपद्रव को बढ़ावा देने वाले अलगाववादियों पर भी सरकार शिकंजा कस रही है। अमरनाथ यात्रा शुरू होने में अभी कुछ ही दिन बाकी हैं।

सीजफायर के दौरान आतंकियों के बढ़े हुए हौसलों को देखते हुए सरकार ने अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए NSG कमांडो तैनात करने  का फैसला लिया है। भारत के ब्लैक कैट कमांडो अब अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालेंगे।

अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के लिए भारत सरकार ने 2 दर्जन NSG कमांडो की तैनाती का फैसला किया है। अमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू हो रही है। यह इतिहास में पहली बार है, जब अमरनाथ यात्रा की जिम्मेदारी NSG को मिली है। खुफिया जानकारी के अनुसार अमरनाथ यात्रा के समय यात्रियों और सुरक्षा बलों के कैंपो पर आतंकी ने बड़े पैमाने की पर हमले की साजिश रची है।

सरकार NSG के मूवमेंट के लिए BSF कैम्प में हेलीकॉप्टर भी तैनात कर रही है, जिससे किसी भी आपात स्थिति में कमांडो को तुरंत तैनात किया जा सकता है।