एयरफोर्स  दिवस के मौके पर भारतीय वायुसेना ने दिखाई ताकत

418

भारत की शान मानी जाने वाली वायुसेना के लिए आज गौरव भरा दिन है। आज भारत में 86वां वायुसेना दिवस (Air Force Day) मनाया जा रहा है। इस अवसर पर गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर वायुसेना के लड़ाकू विमानों की परेड दिखाई जा रही है, जिसमें दुनिया भारत के लड़ाकू विमानों की ताकत देख रही है।

वायुसेना दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत देश के बड़े नेताओं ने अपनी शुभकामनाएं दीं हैं। 8 अक्टूबर 1932 को भारतीय वायुसेना की स्थापना की गई थी। इस दिन को Air Force Day के तौर पर मनाया जाता है। 1 अप्रैल 1933 को इसके पहले दस्ते का गठन हुआ था, जिसमें 6 RAF-ट्रेंड ऑफिसर और 19 हवाई सिपाहियों को शामिल किया गया था।

गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर सोमवार सुबह ही परेड शुरू हुई है, यहां वायुसेना के जवान अपने करतब दिखा रहे हैं। वायुसेना दिवस के मौके पर वायुसेना प्रमुख श्री बी. एस. धनोआ ने कहा कि वायुसेना किसी भी तरह की परिस्थिती का सामना करने के लिए तैयार है तथा हमारी ताकत दिनोंदिन बढ़ रही है। उन्होंने आगे बताया कि अपाचे, राफेल, S-400 जैसे सिस्टम हमारी ताकतें बढ़ाएंगे।

हिंडन एयरबेस पर कार्यक्रम के बीच पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी पहुंचे हैं। एयरफोर्स की तरफ से सचिन को ग्रुप कैप्टन की उपाधि दी गई है। इस दौरान एयरचीफ मार्शल श्री बी.एस. धनोआ समेत वायुसेना के कई बड़े अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। परेड के दौरान जगुआर, बिसन, MiG-29, मिराज-2000, सुखोई जैसे एयरक्राफ्ट अपनी ताकत दिखा रहे हैं।

हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर होने वाले इस कार्यक्रम की वजह से गाजियाबाद समेत पूरे दिल्ली NCR में ट्रैफिक रूट में कुछ बदलाव किए गए हैं। कार्यक्रम के दौरान वायुसेना में रहते हुए उल्लेखनीय सेवा करने वाले सैनिकों को वायुसेना मेडल से सम्मानित किया जाएगा।