आलू की कचौरी कैसे बनाते हैं (Aaloo ki kachori kaise banate hai)

कचौरी को आप चाय के साथ या नाश्ते में परोस सकते हैं । कचौरी खाना बहुत से लोगों को पसंद होता है ।  इस कचौरी को दालमौठ कचौरी भी कहते हैं ।  कचौरी की ऊपर की परत तो समान होती ही पर अंदर का भरावन आप अपनी पसंद के अनुसार बदल सकते हैं । जैसे प्याज का मसाला, आलू का मसाला, सूखा मसाला आदि । कचौरियां खाने में इकदम खस्ता और मजेदार होती है । आप इन्हें बनाकर किसी यात्रा में भी लेकर जा सकते हैं । आप इन कचौरियों को स्टोर करके भी रख सकते हैं । बाजार जैसी कचौरी अब आप घर पर भी आसानी से बना सकते हैं इसलिए  आज हम आपके लिए  इंदौर की सबसे मजेदार और खस्ता आलू की कचौरी बनाने की रेसिपी लेकर आए हैं जो आप लोगों को जरूर पसंद आएगी तो आइए जानते हैं कि स्वादिष्ट और खस्ता कचौरी कैसे बनाते हैं –

Aaloo ki kachori kaise banate hai

सामग्री –

  • 2 कप मैदा
  • 5 उबले हुए आलू
  • 1 Tablespoon लाल मिर्च पाउडर
  • नमक स्वादानुसार
  • ¼ Teaspoon अजवाइन
  • तेल मोयन‌ के लिए
  • तेल तलने के लिए
  • आवश्यकतानुसार पानी
  • 4 प्याज

विधि –

* कचौरी बनाने के लिए सबसे पहले एक बड़ा बाउल लें और उसमें मैदा, तेल और अजवाइन डालकर अच्छी तरह से मिला लें ।

* इसके बाद इसमें थोड़ा थोड़ा करके पानी डालते जाएं और एक सख्त आटा गूथकर तैयार कर लें ।

* अब गुथे हुए आटे के ऊपर थोड़ा तेल लगा दें और उसे कपड़े से ढक्कर रख दें । अब जब तक आटा रेस्ट कर रहा है तब तक हम भरावन तैयार कर लेते हैं ।

* भरावन तैयार करने के लिए सबसे पहले एक बड़ा बाउल लें और उसमें उबले और मैश किए आलू, लाल मिर्च पाउडर, स्वादानुसार नमक डालकर अच्छी तरह से मिला लें । अब इस मसाले को अच्छी तरह से मैश कर लें ताकि आलू के मसाले में गुठलियां ना रहे ।

* इंदौरी मसाला थोड़ा ज्यादा तीखा बनता है । अब तैयार आटे को निकाल लें और इस बार फिर से उसे अच्छी तरह से गूथ लें । अब इस आटे की समान लोइयां बना लें । अब इन बनाई गई लोइयों को थोड़ी देर कपड़े से ढककर रख दें। हमने 2 कप मैदा लिया है तो इस हिसाब से हमारी 15-16 कचौरियां बनेगी ।

* अब की गई लोइयों में से एक लोई लें और उसे थोड़ा गोल करे और उसके बीच में चम्मच की मदद से आलू का मसाला भर दें और लोई को‌ दोनों हाथों से घुमाते हुए बंद कर दें । अब लोई को उंगलियों से दबाकर चपटा कर दें ताकि लोई के बीच में हवा ना रह जाए । अगर लोई और मसाले के बीच में थोडी भी हवा रह गई तो कचौरी फूलकर फट सकती है । इसलिए कचौरी बनाते समय ध्यान रखें कि लोई को अच्छी तरह से दबाते हुए बंद करें ।

* अब इसी तरह बाकी की कचौरियां भी तैयार कर लें ।

* अब एक कड़ाही लें और उसे गैस पर रखकर गैस चालू करें । अब इस कड़ाही में तेल डालें और तेल को अच्छी तरह से गर्म होने दें । जब तेल अच्छी तरह से गर्म हो जाए तो आंच धीमी कर दें और एक – एक करके तेल में तैयार कचौरियां डालें और धीमी आंच पर कचौरियों को तलें । और एक बार में केवल 5-6 कचौरियां ही तेल में डालें ।

* ध्यान रखें कि एक बार में आप तेल के अनुसार ज्यादा कचौरी भी डाल सकते हैं और अगर आप एक बार में एक ही कचौरी डालोगे तो वह पूरी की तरह फूल जाऐगी ।

* अब कचौरियों को धीमी आंच पर ही तले जब तक कि वो खस्ता और करारी ना बन‌ जाएं ।

* जब कचौरियां अच्छी तरह से तल जाएं तो इन्हें एक किचन पेपर पर निकाल लें और कचौरी परोसने के लिए एक प्लेट में प्याज काटकर रख लें ।

* अब इसी तरह से बाकी की कचौरियां भी तल लें ।

* कचौरियों को परोसते समय कचौरी को एक प्लेट में रखे और इसके ऊपर से बारीक कटी हुई प्याज, थोड़ा सा नमक हरी चटनी या मीठी चटनी डाले । अब इसके ऊपर से लाल चटनी बारीक सेब डालकर गरमागरम कचौरी सर्व करें ।

ध्यान रखने योग्य बातें-

* कचौरियों को आप अपनी पसंद की चटनी जैसे लाल चटनी, हरी चटनी, मीठी चटनी, इमली की चटनी, साॅस आदि के साथ परोस सकते हैं ।

* कचौरी का आटा गूंथते समय आप इस आटे में थोड़ा सा घी डालकर आटा गूंथें इससे कचौरियां खस्ता बनती हैं ।

* आप कचौरी को चपटा करने के लिए बेलन का ढी इस्तेमाल कर सकते हैं । इससे कचौरियों के अंदर की अतिरिक्त हवा भी निकल जाऐगी और मसाला भी कचौरी में अच्छे से फैल जाऐगा ।

* कचौरियों को तलते समय ध्यान रखें कि गैस की आंच धीमी ही रखे ताकि कचौरियां अच्छी तरह से पक जाए और खस्ता बन सकें ।

* आप कचौरियों के भरावन में अपनी पसंद के मुताबिक परिवर्तन कर सकते हैं ।