46 साल के हुए यूपी के CM योगी आदित्यनाथ

373

यूपी के CM योगी आदित्यनाथ आज मना रहे है अपना 46वॉ जन्मदिन। इनके जन्मदिन पर देश के सभी मंत्रियो के साथ PM मोदी ने भी दी जन्मदिन पर बधाई दी, वहीं CM योगी ने सबका आभार जताया है।

आपको बता दें कि यूपी के CM योगी आदित्यनाथ का जन्म उत्तराखण्ड के पौढ़ी गढ़वाल के पंचूर गाँव में 5 जून सन् 1972 में एक साधारण परिवार में हुआ था।

अजय मोहन है असली नाम

CM योगी आदित्यनाथ का असली नाम अजय ओहन बिष्ट है। योगी के पिता का नाम आनन्द सिंह बिष्ट है और इनकी माता का नाम सावित्री देवी है। योगी के पिता एक फॉरेस्टर रेंजेर थे, योगी सात भाई-बहन है।

कैसे बने महंत

यूपी के CM योगी की प्रतिभा से प्रभावित होकर महंत अवैद्यनाथ ने योगी को अपनी राजनीतिक और विरासत सौंपी थी। इसी तरह आगे बढ़ते हुए गोरखपुर के सांसद के रूप में CM योगी ने 19 मार्च सन् 2017 को यूपी के 21वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। योगी आदित्यनाथ गणित से BSC करने के बाद MSC की  पढ़ाई करना चाहते थे, लेकिन कोटद्वारा उनका सामान चोरी हो गया, जिसमें इनके स्नातक के प्रमाणपत्र थे। इसी दौरान वो गुरु गोरखनाथ पर शोध करने गोरखपुर आए। गोरखपुर में रहने के दौरान ही ये महंत अवैद्यनाथ के संपर्क में आए थे, इन्होने इनसे ही दीक्षा ली और सन् 1994 में पूर्ण सन्यासी बन गए।

महंत अवैद्यनाथ​ के शिष्य रहे सीएम योगी

योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में राम मंदिर आन्दोलन में शामिल होने के लिए अपना घर तक छोड़ दिया। वो गोरखनाथ मठ के मुख्य पुजारी, महंत और अवैद्यनाथ के संपर्क में आए और उनसे प्रभावित होकर उनके शिष्य बन गए। सन् 1994 में  सन्यासी बन गए इसके साथ ही गोरखपुर मठ में उनका नाम अजय ओहन बिष्ट से बदलकर योगी आदित्यनाथ किया गया।

महज 26 साल में बने युवा सांसद योगी

साल 1988 में गोरखपुर से BJP के रूप में प्रत्याशी के तौर पर योगी आदित्यनाथ ने चुनाव लड़ा। उस वक्त योगी की उम्र मात्र 26 साल की थी। इसके बाद साल 1999 में वो फिर चुनावी दंगल में उतरे और जनता ने उन्हें भारी मतों से लोकसभा तक पहुँचाया। इसके बाद CM योगी ने 2004, 2009 और 2014 में भी गोरखपुर से लगातार चुनाव लड़ा और सांसद चुने जाते रहे।

साल 2008 में हुआ था जानलेवा हमला-बल-बल बचे योगी

जब योगी आदित्यनाथ सन् 2008 में आज़मगढ़ में थे, तभी उन पर अचानक जानलेवा हमला हुआ जिसमें वो बाल-बाल बच गए। इस हमले में हमलावरों ने करीब उनके सौ से अधिक वाहन घेर लिए थे और लोगों को लहुलुहान कर दिया।

अपने विवादित बयानों से सुर्खियों में छाए CM योगी

महंत की जिम्मेदारी के साथ-साथ CM योगी आदित्यनाथ के कंधो पर लोकसभा क्षेत्र की भी जिम्मेदारी रही। अपने CM बनने से पहले  योगी ने कुछ ऐसे बयान दिए, जिसकी वजह से वो काफी सुर्खियों में बने रहे और आज यूपी के मुख्यमंत्री के पद पर हैं।