सूजी की मीठी मठरी कैसे बनाएं

सूजी की मीठी मठरी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री-

  • सूजी – 1 कप या (200 ग्राम)
  • गेहूं का आटा – ¼ कप से थोड़ा ज्यादा (50 ग्राम)
  • चीनी पाउडर – ½ कप (75 ग्राम)
  • तेल – ⅓ कप
  • दूध – ½ कप
  • इलायची – 4 पीस (पाउडर)
  • तिल – 1 छोटा चम्मच
  • तेल – तलने के लिए

सूजी की मीठी मठरी बनाने की विधि-

एक बर्तन में सूजी निकाल लें। उसके बाद इसमें गेहूं का आटा, तिल, इलायची पाउडर डालकर सभी चीजों को अच्छी तरह से मिला लेंगे। मिश्रण में हल्का सा गरम दूध थोड़ा-थोड़ा डालते हुए नरम आटा गूंथकर तैयार कर लेंगे। गूंथे हुए आटे को ढ़क कर 15 से 20 मिनट के लिए रख देंगे।

जब आटा सैट होकर तैयार हो जाए, तब 15 मिनट बाद गूंथे हुए आटे को अच्छी तरह से मसल-मसलकर चिकना कर लेंगे। जिस बोर्ड पर मठरी बेलनी है, उस बोर्ड पर थोड़ा तेल लगाकर चिकना कर लेंगे। अब तैयार किए हुए आटे को दो भाग में बांट लेंगे और आधे भाग को बोर्ड पर रख दें और बचे हुए आटे को ढ़क कर रख दें।

अब बोर्ड पर रखे आटे को गोल कर लेंगे और इसे बेलन की सहायता से एक चौथाई से.मी. की मोटाई में बेल लेंगे। उसके बाद इसे कुकी कटर (cookie cutter) या किसी भी गोल ढक्कन या गोल गिलास की सहायता से काट लेंगे। अब इन्हें फोर्क की सहायता से फोर्क कर लेंगे। इन्हें दोनों ओर से फोर्क कर लेंगे। बचे हुए आटे को भी इसी तरह से मठरी बनाकर तैयार कर लेंगे।

गैस की आंच पर कढ़ाई में तेल डालकर गरम कर लेंगे, मठरी तलने के लिए तेल कम गरम होना चाहिए और गैस की आंच धीमी या मध्यम ही होनी चाहिए। तेल ठीक से गरम हो गया है या नहीं इसे चैक करने के लिए थोड़ा सा आटा तेल में डालकर देख लेंगे। आटा सिक रहा है, तो तेल गरम है।

अब मठरियों को तेल में डाल देंगे और सिकने देंगे। गैस की धीमी या मध्यम आंच पर इनको अलट-पलट कर दोनों तरफ से गोल्डन ब्राउन होने तक तल लेंगे। तली गई मठरियों को प्लेट में निकालकर रख लेंगे। इसी तरह बाकी की बची हुई सारी मठरियां सेंक कर निकाल लेंगे।

एक बार की मठरियां को सेंकने में 4 से 5 मिनिट का समय लग गया था। इतने मैदा में लगभग 25 मठरियां बनकर तैयार हो जाती हैं। सूजी की मीठी क्रिस्पी मठरी बनकर तैयार हैं। आप इन्हें सर्व कर सकते हैं। मठरियों के पूरी तरह से ठंडा होने के बाद इन्हें कंटेनर में भरकर रख दें। यह मठरी 1 महीने तक उपयोग में ली जा सकती है।

सुझाव-

बारीक सूजी के बदले मोटी सूजी का भी उपयोग कर सकते हैं। अगर मोटी सूजी का उपयोग कर रहे हैं, तो उसमें आटे की मात्रा को बढा़ लेंगे। जैसे हमारे पास 1 कप सूजी है, तो ½ कप आटा यूज करेंगे। चीनी को, जितना आटा लिया है उसका एक तिहाई लेते हैं। आप चीनी अपने अनुसार कम या ज्यादा कर सकते हैं, लेकिन बहुत ज्यादा नहीं करना है। अगर चीनी ज्यादा हो जाएगी तो मठरी तलते समय तेल में फट कर बिखरने लगेंगी। तेल बहुत ज्यादा गरम है, तो मठरियां बाहर से ब्राउन हो जाएंगी,  लेकिन अंदर से क्रिस्प नहीं होंगी और नरम ही रहेंगी।