भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी आज लोगों से संवाद कर रहे हैं। ‘नमो एप’ के जरिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जन-औषधि परियोजना के लाभार्थियों से बात की। इस प्रकार सरकार ने हेल्थकेयर में किये काम के बारे में भी बात की, बात के दौरान PM मोदी ने कहा कि वो ‘नमो एप’ के जरिए सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से सीधे बात कर रहे हैं। PM मोदी ने आगे कहा कि हमारी सरकार दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थकेयर स्कीम आयुष्मान भारत में एक ऐसी योजना ला रही है, जिसे लोग “मोदीकेयर” भी कह रहे हैं।

उन्होंने कहा कि गरीब के लिए किसी भी बीमारी में सबसे चिंता की बात दवाई है। दवाओं के रेट आज मार्केट में इतने ज्यादा हैं कि गरीब लोग इतनी महंगी दवाई नहीं खरीद सकते। कभी-कभी दवाओं के रेट महंगे होने से, समय पर दवाई ना लेने के कारण कई गरीब लोगों की मौत तक हो जाती है।

इस प्रकार की तमाम परेशानी से निपटने और दवाओं के रेट कम करने के लिए सरकार ने अभी तक भारत में करीब 3 हजार औषधि केंद्र खोले हैं, जहां पर अलग-अलग मर्ज की लगभग 700 से ज्यादा दवाएं मौजूद हैं। अब भारत में गरीब भी अपना इलाज आसानी से करा सकते हैं। PM ने बातचीत के दौरान कहा कि आज ब्लडप्रेशर और अन्य बीमारी की दवा इन केंद्रों पर उपलब्ध है। इस तरह PM ने कई लाभार्थियों से अलग-अलग बात की। इस दौरान PM से बात करते हुए एक लाभार्थी ने बताया कि पहले उनकी मासिक दवाई का खर्च जहां 3 हजार रूपये था, लेकिन अब इसका खर्च महज 400-500 रूपये ही है। इस प्रकार दवाई की कीमतों में राहत मिली है।